एक ऐसे युग का जल्द होगा अंत जिसने पाकिस्तान क्रिकेट को दी स्पॉट फिक्सिंग के बाद एक नई पहचान | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एक ऐसे युग का जल्द होगा अंत जिसने पाकिस्तान क्रिकेट को दी स्पॉट फिक्सिंग के बाद एक नई पहचान 

एक ऐसे युग का जल्द होगा अंत जिसने पाकिस्तान क्रिकेट को दी स्पॉट फिक्सिंग के बाद एक नई पहचान

पाकिस्तान क्रिकेट के टेस्ट कप्तान मिस्बाह-उल-हक अपने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर चुके हैं। मिस्बाह उल हक वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच खेली जा रही तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट मैच के बाद अपने इंटरनेशनल करियर को अलविदा कहने जा रहे हैं। मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तान क्रिकेट के लिए बहुत कुछ किया है। वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच 10 मई से तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच डोमिनिका में शुरू हो गया है। ऐसे में पाकिस्तानी टीम मिस्बाह-उल-हक के साथ ही उनके दिग्गज बल्लेबाज युनिस खान को इस आखिरी टेस्ट मैच को यादगार बनाने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहेगी।

पाकिस्तान के लिए है कड़ी परीक्षा

वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के बीच चल रही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के इस समय 1-1 से बराबरी पर खड़ी है। पाकिस्तान टीम ने पहला टेस्ट मैच तो आसानी के साथ 7 विकेट से अपने नाम किया था, लेकिन इसके बाद दूसरे टेस्ट मैच में पाकिस्तानी टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में ये तीसरा टेस्ट मैच पाकिस्तानी टीम के लिए बड़ा ही अहम माना जा रहा है। इस मैच में पाकिस्तान को दो लीजेंड खिलाड़ी युनिस खान और मिस्बाह उल-हक विदाई ले रहे हैं।इमरान खान और मिस्बाह-उल-हक की तुलना पर वसीम अकरम ने तोड़ी अपनी चुप्पी, दिया बड़ा बयान

मिस्बाह ने इस मैच को लेकर दी अपनी राय

अपना अंतिम टेस्ट मैच खेल रहे पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह ने कहा कि हम आगे की ओर देख रहे हैं और इस मैच को एक नोरमल मैच की तरह ले रहे हैं और अपने काम की ओर ध्यान दे रहे हैं।इस तरह के मौके पर कुछ तरह की भावनाएं आ जाती है लेकिन हम अपना श्रेष्ठ करने के लिए ध्यान दे रहे हैं। इस सीरीज में हमारे लिए बहुत कुछ दांव पर लगा है, जो हमारे पेशेवर तरीके को दिखाएगा।

मिस्बाह की कप्तानी में पाकिस्तान बनी है नंबर वन टेस्ट टीम

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सफलतम टेस्ट कप्तान मिस्बाह ने अपने कप्तानी करियर में पाकिस्तान क्रिकेट टीम को कई कामयाबी दिलाई है। हाल के ही महीनों में मिस्बाह की कप्तानी में ही पाकिस्तान की टीम टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन बनी थी। पाकिस्तान को टेस्ट मैच में नंबर वन बनाने वाले मिस्बाह पहले कप्तान हैं। इसके अलावा मिस्बाह ने ऐसे समय पाकिस्तानी क्रिकेट का दामन थामे रखा जब स्पॉट फिक्सिंग के मामले ने पाकिस्तानी क्रिकेट में भूचाल ला दिया था। ऐसे में मिस्बाह की इंटरनेशनल क्रिकेट से यादगार विदाई बहुत ही मायने रखती है।

स्पॉट फिक्सिंग था बड़ा ही मुश्किल समय

पाकिस्तानी क्रिकेट में आए स्पॉट फिक्सिंग को लेकर मिस्बाह उल-हक ने कहा कि ये बहुत ही मुश्किल समय था। उस समय कई खिलाड़ी संन्यास ले रहे थे। जिसके बाद हमें स्पॉट फिक्सिंग जैसे मामले का सामना करना पड़ा। ये उस समय बिल्कुल ही युवा टीम थी। जिसके बाद ये टीम इंटरनेशनल क्रिकेट में उभरी खासतौर पर टेस्ट क्रिकेट में ये बहुत बेहतरीन था।इसमें कोई शक नहीं कि आखिर की कुछ सीरीज में हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। लेकिन इस टीम में अभी भी गजब की क्षमता है। हम इसके रास्ता अच्छे से जानते हैं बस हमें तो इस पर चलना है।पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक ने अपनी टीम की शर्मनाक हार के बाद दिया ये चौकाने वाला बयान

इस युवा टीम में हैं दम

मिस्बाह ने साथ ही कहा कि एक सीनियर होने के नाते मैनें इस युवा टीम को अनुशासन और समर्पण की आवश्यक कोशिश दिखाई। और साथ ही कड़ी मेहनत भी की।जिससे की आप कुछ भी हासिल कर सकते हैं। मैं इस काम से बहुत ही खुश हूं। मैं देख रहा हूं कि ये टीम अकेली ही सही आगे बढ़ रही है।

Related posts