ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एशेड सीरीज: ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है 

एशेड सीरीज: ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है

एशेज सीरीज का अंतिम टेस्ट ओवल में खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टिम पेन टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। पहले दिन की खेल के समाप्ति पर इंग्लैंड ने 8 विकेट पर 271 रन बना लिए हैं। ऑस्ट्रेलिया के लिए सीरीज का पहला मैच खेल रहे ऑलराउंडर मिचेल मार्श ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए हैं।

एशेड सीरीज: ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है 1

ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है

एशेड सीरीज: ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है 2

मिचेल मार्श ने 5वें टेस्ट मैच के पहले दिन 4 विकेट लिए लेकिन उनका मानना है कि ऑस्ट्रेलिया उनसे नफरत करता है। उन्हें टेस्ट करियर में अभी तक के अपने प्रदर्शन को लेकर यह बात कही है। पहले दिन के खेल के बाद मार्श ने कहा

“ऑस्ट्रेलिया के अधिकांश लोग मुझसे नफरत करते हैं। ऑस्ट्रेलियाई बहुत भावुक हैं, वे अपने क्रिकेट से प्यार करते हैं, वे चाहते हैं कि लोग अच्छा करें। इसमें कोई संदेह नहीं है कि मेरे पास टेस्ट क्रिकेट में काफी अवसर थे, लेकिन मैंने उनका फायद नहीं उठाया। लेकिन उम्मीद है कि वे मुझे सम्मान दे सकते हैं कि मैं हमेशा कमबैक करता हूं और मुझे ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना पसंद है। मैं बैगी ग्रीन कैप से प्यार करता हूं और मैं कोशिश करता रहूंगा और उम्मीद है कि मैं उन्हें एक दिन में जीत लूंगा।”

6 महीने में काफी मेहनत की

एशेड सीरीज: ओवल टेस्ट के पहले दिन 4 विकेट लेने वाले मिचेल मार्श ने कहा, ऑस्ट्रेलिया मुझसे नफरत करता है 3

मिचेल मार्श विश्व कप में भी ऑस्ट्रेलिया टीम का हिस्सा नहींं थे। उन्होंने खुलासा किया है कि पिछले 6 महीने में काफी मेहनत की है। मार्श ने अपने खाने पर भी काफी ध्यान दिया है। यहीं वजह है कि पहला ही मौका मिलने पर उन्होंने बेन स्टोक्स और जॉनी बैरेस्टो जैसे बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। मार्श ने आगे कहा

“पिछले छह महीनों में मैंने जो कुछ भी अपने पास रखा है, उसमें मैंने अपनी जीवनशैली को थोड़ा बदल दिया है। मैं बुरी तरह से नहीं खाता। मैं अभी बहुत खाता हूं। मेरा शरीर आसानी से वजन डालना पसंद करता है और मेरी मां मुझे खाना खिलाना पसंद करती हैं। मेरे पास पिछले छह महीनों में घर में जितने रोस्ट नहीं थे, लेकिन यह उतना कठिन नहीं था। कोई गुप्त नुस्खा नहीं रहा है, मैंने बस एक और मौका पाने की उम्मीद में मेहनत की थी।”

Related posts