धोनी को कप्तानी से हटाना पुणे की टीम का सबसे शर्मनाक निर्णय है: अजरूद्दीन 1

आईपीएल में पिछले ही साल जुड़ी राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स ने भारत के सबसे सफल कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को एक ही साल में अपनी टीम की कप्तानी से बेदखल कर दिया। इस कदम के साथ ही इस नई टीम को बद दुआ मिलनी शुरू हो चुकी है। धोनी को दो दिन पहले ही इस टीम ने कप्तानी से हटाकर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ को कप्तान नियुक्त कर दिया।महेंद्र सिंह धोनी के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने को लेकर बेहद उत्सुक हूँ: मनोज तिवारी

राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स टीम मैनेजमेंट के द्वारा उठाए इस कदम के बाद भारत के पूर्व कप्तान और स्टाइलिश बल्लेबाज मोहम्मद अजरूद्दीन इस टीम पर बिफर पड़े। और अजहर ने इस कदम को टीम के लिए विनाशकारी और शर्मनाक करार दिया है।

भारतीय पूर्व कप्तान ने कहा, कि  “जिस तरह से भारत के सबसे सफलतम कप्तान को राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स ने अपनी टीम की कप्तानी से हटाया है ये बहुत ही शर्मनाक और घटिया निर्णय है । धोनी भारत के वे कप्तान है जिन्होने अपनी लीडरशीप में भारत को टी-20 विश्वकप के साथ ही वनडे विश्वकप भी जिताया । और राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स को ये भी नहीं भुलना चाहिए, कि धोनी ने अपनी कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स को एक ही नहीं दोे बार चैंपियन बनाया”।ये है वो कारण जिसकी वजह से विश्व के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने छोड़ी पुणे की कप्तानी

धोनी को कप्तानी से हटाना पुणे की टीम का सबसे शर्मनाक निर्णय है: अजरूद्दीन 2

“अगर ऐसे कप्तान को आप टीम की कप्तानी से हटाते हो तो ये इनके लिए कहीं ना कहीं बड़ा विनाशकारी कदम साबित होगा। अजहर यहीं नहीं रुके और उन्होने कहा, कि भारतीय क्रिकेट के लिए धोनी ने 8-9 सालों के अपने कप्तानी के सफर में वो सबकुछ हासिल किया जो एक अच्छा कप्तान कर सकता है।”

आजतक न्यूज चैनल के बात करते हुए अजहर  ने कहा, कि “धोनी  की कप्तानी में राईजिंग पुणे सुपर जायंट्स की टीम पिछले साल अपने पहले आईपीएल में नीचे से सातवें स्थान पर रही थी इसका मतलब ये नहीं हुआ, कि टीम की इस दुर्दशा का सारा ठीकरा कप्तान पर फोड़ा जाए। अगर टीम खराब खेले तो एक कप्तान कुछ नहीं कर सकत।” काफी विवादों भरी रही मोहम्मद अजहरुद्दीन की जिंदगी 1 करोड़ का हुआ था, तलाक बहुत कुछ कहती हैं ये तस्वीरें

साथ ही अजहर ने ये कहा, कि “अगर आपको धोनी को कप्तानी से हटाना ही था तो पहले उनसे इस बारे में बात करते और बाद में ऐसा कदम उठाते और दुनिया ये ये कहते, कि ये धोनी खुद का लिया हुआ निर्णय है।”