विजय हजारे ट्रॉफी में धोनी के शानदार शतक के बाद, कैफ ने धोनी के टेस्ट से सन्यास पर उठाये सवालियां निशान | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विजय हजारे ट्रॉफी में धोनी के शानदार शतक के बाद, कैफ ने धोनी के टेस्ट से सन्यास पर उठाये सवालियां निशान 

विजय हजारे ट्रॉफी में धोनी के शानदार शतक के बाद, कैफ ने धोनी के टेस्ट से सन्यास पर उठाये सवालियां निशान

पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ मोहम्मद कैफ ने झारखंड के कप्तान एमएस धोनी की जमकर तारीफ़ की हैं. रविवार को विजय हजारे ट्राफी एक मुक़ाबले में धोनी की कप्तानी वाली झारखंड ने छत्तीसगढ़ को 78 रनों से हराया.

इस मुक़ाबले में मोहम्मद कैफ छत्तीसगढ़ के कप्तान थे, कैफ ने मैच के बाद हार स्वीकार करते हुए कहा, कि धोनी की पारी ने हमे मैच से दूर कर दिया. धोनी ने जो युवी के साथ किया, मैं उसके लिए उसे माफ़ करता हूँ : योगराज सिंह

ईडन गार्डन पर खेले गए मैच में एक समय झारखंड का स्कोर 43/5 था, तभी धोनी ने मोर्चा संभाला. धोनी ने मैच में 94 गेंद खेलकर एक शानदार छक्का लगाकर अपना शतक पूरा किया.

धोनी ने मैच में 107 गेंदों पर 10 चौके और 6 छक्को की मदद से शानदार 129* रनों की पारी खेली, जिसकी मदद से झारखंड ने निर्धारित 50 ओवरों में 243/9 का स्कोर बनाया, जिसके जवाब में छत्तीसगढ़ की पूरी टीम 165 रनों पर आल-आउट हो गई और झारखंड ने मैच 78 रनों से जीता. मैं चैंपियंस ट्रॉफी में खेलना चाहता हूँ : आशीष नेहरा

मैच के बाद मोहम्मद कैफ ने कहा, कि धोनी में अब भी तीनों फॉर्मेटस में खेलने की क्षमता हैं. साथ ही कैफ ने यह भी कहा, कि वह धोनी को उनके शुरूआती दिनों से देख रहे है, धोनी जैसा बनना बेहद मुश्किल हैं.

एक दिलचस्प बात यह है, कि धोनी के सेंट्रल ज़ोन के लिए पहला मैच वर्ष 2004 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में ही खेला था. कैफ ने यह भी कहा, कि अगर धोनी मैच में नहीं होते तो झारखंड की टीम 120 रनों के आसपास आउट हो गई होती. क्या आपको पता हैं जहीर खान की तथाकथित गर्लफ्रेंड सागरिका घाटगे से जुड़ी ये पांच बड़ी बातें

मोहम्मद कैफ ने कहा, “धोनी के पास नेचुरल क्षमता है. जिसकी झलक आज(रविवार) देखने को मिली. मेरा मानना ​​है, कि वह अब भी इस खेल के सभी प्रारूपों के लिए काफी अच्छे है. वह अब भी गेंद को अच्छे से हिट कर रहे हैं. मैं धोनी को उनके पदार्पण मैच से देख रहा हूँ और मेरा हमेशा मानना है, कि आप सिर्फ अभ्यास से धोनी नहीं बन सकते है. हम झारखंड को 120 रनों के आसपास आउट कर देते अगर धोनी वहा नहीं होते.”

Related posts