परिवारिक विवाद की वजह से रद्द हुआ था मोहम्मद शमी का वीजा, अब इस शर्त पर जाएंगे अमेरिका 1

भारतीय स्टार गेंदबाज़ मोहम्मद शमी पर घरेलू हिंसा और व्यभिचार के मामले दर्ज हैं, जिस कारण उनका अमेरिकी वीजा खारिज कर दिया गया था। इसके बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सीईओ राहुल जौहरी की मदद से शमी को वीजा मिल गया है।

मोहम्मद शमी

असल में शमी को वीजा दिलवाने के लिए जौहरी ने अमेरिकी दूतावास को शमी की उपलब्धियों के साथ पत्नी हसीन जहां के साथ चल रहे विवाद की पूरी जानकारी दी। बीसीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी द्वारा अमेरिकी दूतावास को पत्र लिखे जाने के बाद मोहम्मद शमी को आखिरकार मंजूरी मिल गई।

बीसीसीआई के पत्र ने शमी के अमेरिकी वीजा को मिली मंजूरी

पीटीआई ने घटनाक्रम के बारे में लिखा,

“हां, शमी के वीजा आवेदन को अमेरिकी दूतावास ने शुरू में खारिज कर दिया था। यह पाया गया कि उसका पुलिस सत्यापन रिकॉर्ड अधूरा था। हालांकि अब इस दिक्कत को बीसीसीआई ने दूर करा दिया है और सभी आवश्यक दस्तावेजों को सुसज्जित कर दिया गया है,”।

उन्होंने आगे कहा,

“एक बार जब वीजा आवेदन खारिज हो गया, तो सीईओ राहुल जौहरी ने शमी की उपलब्धियों का हवाला देते हुए कई विश्व कप में भाग लेने का अनुरोध  करते हुए एक अनुरोध पत्र लिखा।”

2018 की शुरुआत में, शमी और उनकी विवाहित पत्नी जहान ने अपने पति पर व्यभिचार और घरेलू हिंसा का आरोप लगाया।

वेस्टइंडीज दौरे पर रवाना होगी टीम इंडिया

भारतीय क्रिकेट टीम जल्द ही वेस्टइंडीज दौरे के लिए रवाना होने वाली है। टीम इंडिया इस दौरान तीन टी-20, तीन वनडे और दो टेस्ट खेलेगी। पहले दो टी-20 अमेरिका के फ्लोरिडा में खेले जाएंगे। टीम इंडिया इससे पहले भी यहां खेल चुकी है। उस दौरान सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने टी-20 में यहां शतक लगाया था।

2018 से शुरू हुआ मोहम्मद शमी और हसीन जहां का मामला

मोहम्मद शमी

2018 में शमी और उनकी पत्नी के बीच विवाद शुरू हुआ था। इस दौरान हसीन जहां ने शमी पर मारपीट, दुष्कर्म, हत्या की कोशिश, घरेलू हिंसा और मैच फिक्सिंग जैसे कई आरोप लगाए थे। हसीन जहां ने शमी के खिलाफ केस भी दर्ज करवाया हुआ है। शमी के तलाक का केस कोर्ट में चल रहा है।