14 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी ने रचा इतिहास खेली 556 रनों की नाबाद पारी 1

श्री डीके गायकवाड अंडर-14 टूर्नामेंट में 14 वर्षीय प्रियांशु मोलिया ने अपनी बल्लेबाजी से धमाल मचा दिया. प्रियांशु ने मोहिंदर लाला अमरनाथ क्रिकेट एकेडमी की ओर से योगी क्रिकेट एकेडमी के खिलाफ नाबाद 556 रनों की पारी खेली है. यह एक दो दिवसीय मैच था जो वडोदरा क्रिकेट एकेडमी ग्राउंड पर खेला गया.

अपनी इस असाधारण बल्लेबाजी के चलते प्रियांशु मोलिया चर्चा में आ गये हैं. उन्होंने ये रिकॉर्ड मंगलवार को बनाया. उन्होंने बल्लेबाजी से पहले गेंदबाजी से भी अच्छा करते हुए चार विकेट चटकाए थे. उनके इस प्रदर्शन की बदौलत योगी एकेडमी 52 रनों पर ही ढेर हो गयी. इसके बाद जब प्रियांशु बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतरे तो एक बड़ा स्कोर बना डाला.

पहले दिन का खेल ख़त्म होने तक उन्होंने 408 रन बनाए थे. जबकि दूसरे दिन 148 रन जोड़े. इस तरह उन्होंने 319 गेंदों पर 556 रनों की पारी खेली. जिसमें 98 चौके और एक छक्का शामिल है. प्रियांशु की इस विशाल पारी की मदद से उनकी टीम ने 826 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया.

ये भी पढ़ें – रोहित पांचवे वनडे में बना सकते यह चार विश्व रिकॉर्ड

प्रियांशु की इस पारी से पहले उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 254 रन था, जो उन्होंने एक साल पहले इसी टूर्नामेंट में बनाया था. मैच के बाद उन्होंने मिड डे से बातचीत में कहा ”मेरा पिछला उच्चतम स्कोर इसी टूर्नामेंट में 254 रन था. मैं अपना स्वाभावित खेल खेल रहा था. गेंदबाजी आक्रमण अच्छा था. यह संतोषजनक पारी थी. हालांकि मैं चार-पांच मौकों पर बीट भी हुआ.”

14 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी ने रचा इतिहास खेली 556 रनों की नाबाद पारी 2

आगे कहा ”सोमवार को पहला शतक लगाने के बाद मैंने खुद से कहा कि मुझे कम से कम 200 का स्कोर बनाने की जरूरत है. मैंने 100 रन का हर लक्ष्य तय किया और मैंने उसी तरह खेलना जारी रखा.”

प्रियांशु मोहिन्दर अमरनाथ एकेडमी के लिए खेलते हुए गर्व महसूस करते हैं. मोहिन्दर विश्वकप 1983 के स्टार खिलाड़ी रहे थे. उन्होंने प्रियांशु की इस पारी को लेकर कहा ”जब मैंने उसे पहली बार देखा तो मुझे पता था कि मैं कुछ खास देख रहा हूं. वह एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी है और वह आगे अच्छा होता जाएगा. मुझे इस तरह का जुनून पसंद है.”

प्रियांशु ने भी बताया कि किस तरह मोहिंदर अमरनाथ उन्हें बल्लेबाजी के गुण सिखा रहे हैं. उसने कहा ”मोहिन्दर सर मुझे नेट पर बल्लेबाजी करते हुए हमेशा देखते. वह मुझे अलग अलग ड्रिल के बारे मे और अलग-अलग शॉट्स को कंट्रोल करने के बारे में बताते. मैंने आज मोहिंदर सर से फोन पर बात की और वह मेरे प्रदर्शन से काफी खुश हुए. उन्होंने कहा ऐसे ही करते रहो.”

ये भी पढ़ें – इतने करोड़ की कीमत के मालिक है खलील अहमद

Leave a comment