मोहित शर्मा का खुलासा जब धोनी ने खोया था आपा "पतलून हो गयी थी ढ़ीली" 1

कोरोना वायरस के कारण विश्व इन दिनों जंग लड़ रहा है और बुरी तरह से जुझ रहा है। वैश्विक महामारी का रूप ले चुकी इस वायरस से बचने के लिए विश्व के तमाम देश अपने आप को लॉक कर चुके हैं जिससे कि इसे ज्यादा फैलने से रोका जा सका। बंद के बीच सभी लोग अपने घरों में कैद हैं तो साथ ही क्रिकेटर्स भी घर में ही मौजूद हैं।

मोहित शर्मा भी कोरोना के कारण कर रहे हैं सोशल मीडिया पर कर रहे हैं खुलासे

क्रिकेटर्स अपने चहेते खेल और खेल के मैदान से दूर होने काफी ज्यादा मिस कर रहे हैं इसी कारण से वो इन दिनों अपने करियर के दौरान घटी घटना का जिक्र सोशल मीडिया पर करते जा रहे हैं।

मोहित शर्मा का खुलासा जब धोनी ने खोया था आपा "पतलून हो गयी थी ढ़ीली" 2

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेले तेज गेंदबाज मोहित शर्मा वैसे तो पिछले कुछ साल से इंटरनेशनल क्रिकेट में जगह नहीं बना सके हैं लेकिन वो कई सालों में आईपीएल में जरूर खेल रहे हैं। आईपीएल में मोहित शर्मा ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शुरुआत की थी।

मोहित शर्मा ने किया आईपीएल 2013 की घटना का जिक्र

साल 2013 से चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेले मोहित शर्मा को महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेलने का मौका मिला और उन्होंने धोनी से ही जुड़ी एक घटना का खुलासा किया है जिसमें उन्होंने बताया है कि कैसे कैप्टन कूल ने अपना आपा खोया था।

मोहित शर्मा का खुलासा जब धोनी ने खोया था आपा "पतलून हो गयी थी ढ़ीली" 3

आईपीएल में 2013 के सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स के सनराईजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेले गए एक मैच का जिक्र करते हुए मोहित शर्मा ने ईश्वर पांडे के साथ बात करते हुए बताया कि

जब धोनी ने दिया ऐसा रिएक्शन कि लगा पतलून हो गई ढिली

मैच हैदराबाद के खिलाफ था। तब बड़ा ही अजीब हुआ था। उनकी(धोनी) की प्रतिक्रिया देखकर तो पतलून ढिली हो गई थी। ईश्वर पांडे ने पहला ओवर डाला। आशीष नेहरा ने दूसरा ओवर फेंका। नेहरा के ओवर के दौरान माही भाई मेरे पास ही खड़े थे और उन्होंने मुझे अगले ओवर में गेंदबाजी करने को कहा। तब नेहरा ने एक विकेट लिया था और सभी खिलाड़ी विकेट का जश्न मनाने के लिए जमा हुए। धोनी ने ईश्वर से कहा कि अगले ओवर में गेंदबाजी करें। मुझे नहीं पता था कि उन्होंने इसके बाद ईश्वर को गेंदबाजी के लिए कहा है।”

मोहित शर्मा का खुलासा जब धोनी ने खोया था आपा "पतलून हो गयी थी ढ़ीली" 4

“नेहरा के ओवर के खत्म होने पर ईश्वर गेंदबाजी करने आए। मैंने तब उन्हें कहा कि धोनी भाई ने मुझे गेंदबाजी करने के लिए कहा है। मैंने अंपायर को अपनी टोपी दी और अपने निशान पर गया। मुझे लगता है कि माही भाई किसी से बात कर रहे थे और उन्होंने ये नहीं देखा कि गेंदबाजी करने कौन जा रहा था। जैसा कि मैं आमतौर पर दौड़ने से पहले तैयारी करता हूं। मैंने 2-3 कदम उठाए थे कि फिर मैंने उन्हें(धोनी) दोनों हाथों को हवा में उठाते देखा।”

“मैंने सोचा कि मैंने किया गलत किया है क्योंकि मैंने तो कोई डिलीवरी डाली भी नहीं थी और ना ही मैं छक्का या बाउन्ड्री खायी थी। उन्होंने तब मुझे बताया कि उन्होंने ईश्वर को गेंदबाजी करने को कहा। अंपायर ने हस्तक्षेप किया और कहा कि अब शुरू कर दिया है तो वही गेंदबाजी करेगा। इसके बाद धोनी की प्रतिक्रिया बहुत डरावनी थी।”