इयोन मोर्गन

आईपीएल 2020 का 42वां मुकाबला कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच अबु धाबी के मैदान पर खेला गया। इस मैच में कोलकाता की पूरी टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और 59 रनों से बड़ी जीत अपने नाम की। मैच जीतने के बाद कप्तान इयोन मोर्गन ने सुनील नरेन, नितीश राणा और वरुण चक्रवर्ती की जमकर तारीफ की।

सुनील नरेन-नितीश राणा की जमकर तारीफ

KKRvsDC: दिल्ली को हराने के बाद कप्तान इयोन मोर्गन ने बताया अब तक कहा हो रही थी चूक 1

कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ नितीश राणा ने 83 व सुनील नरेन ने 64 रन की शानदार पारी खेली और टीम के स्कोर को 194 तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई। इस बड़े लक्ष्य की सहायता से टीम ने 59 रनों से बड़ी जीत अपने नाम की। मैच जीतने के बाद कप्तान इयोन मोर्गन ने पोस्ट मैच सेरेमनी में कहा,

“मैंने टॉस में उल्लेख किया है कि हमारे पास चीजों को प्रतिबिंबित करने के लिए अच्छे दिन थे। यह एक कॉम्पैक्ट, हाई इंटेंसिटी टूर्नामेंट है और इसे आसानी से अंजाम दिया जा सकता है। सुनील नारायण ने ऑलराउंड खिलाड़ी की तरह खेल को आगे बढ़ाया है। नीतीश राणा ने लंबा स्कोर खड़ा करने में हमारी मदद की। वह अपने पत्ते खेलना पसंद करता है। इसका पूरा श्रेय टीम के कोच ब्रेंडन मैकुलम को दिया।”

KKRvsDC: दिल्ली को हराने के बाद कप्तान इयोन मोर्गन ने बताया अब तक कहा हो रही थी चूक 2

मजबूत बल्लेबाजी क्रम की है जरूरत

नितीश राणा

आईपीएल 2020 में कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाजों का प्रदर्शन ठीक-ठाक रहा है। टूर्नामेंट आधे से अधिक बीत चुका है, मगर अभी भी कप्तान को ओपनिंग जोड़ी में बदलाव करना पड़ रहा है। मगर दिल्ली के खिलाफ मिली बड़ी जीत के बाद मोर्गन ने इस बात को स्वीकार किया कि उन्हें ना केवल अच्छे टॉप ऑर्डर की जरुरत है बल्कि उन्हें एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम की जरूरत है। मोर्गन ने इस बारे में कहा,

“टूर्नामेंट की प्रकृति को देखते हुए, अधिकांश रन आखिरी 10 ओवर में होते हैं। इसलिए हमें केवल एक मजबूत शीर्ष क्रम के बजाय एक मजबूत बल्लेबाजी क्रम की आवश्यकता है। वरुण एक ऐसा अच्छा खिलाड़ी है। वह उन खिलाड़ियों में से है जो वास्तव में कड़ी मेहनत करता है। बेशक उसके पास विभिन्न कारणों से सीमित अवसर हैं। आज उन्होंने टूर्नामेंट में वास्तव में और सामूहिक रूप से प्रदर्शन किया, वह हमारे लिए शानदार रहा। आप चाहते हैं कि हर कोई प्रामाणिक हो और अपनी क्षमताओं का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करे।”