युवाओं को मौका देने के लिए संन्यास ले रहा हूं मशरफे मुर्तजा | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

युवाओं को मौका देने के लिए संन्यास ले रहा हूं मशरफे मुर्तजा 

युवाओं को मौका देने के लिए संन्यास ले रहा हूं मशरफे मुर्तजा

बांग्लादेश की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने टी-20 से संन्यास लेने की वजह युवाओं को मौका देना बताई है। मुर्तजा ने मंगलवार को श्रीलंका के साथ खेले गए पहले टी-20 मैच में टॉस के दौरान मौजूदा श्रृंखला के बाद टी-20 से संन्यास की घोषणा की थी।  शंकर बासु के साथ जुड़कर बहुत खुश है विराट कोहली, जाने क्या है वजह

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने मुर्तजा के हवाले से लिखा है, “संन्यास लेना हमेशा से ही मुश्किल होता है। लेकिन मैंने सोचा कि अगर में पीछे मुड़कर देखूं तो रुबेल (हुसैन) जैसे खिलाड़ी टीम में नहीं आ पा रहे हैं। उन्हें अंतिम एकादश में होना चाहिए था, लेकिन वह मेरी वजह से बाहर हैं। चूंकि वह अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, इसलिए उन्हें टीम में होना चाहिए। मेरा मानना है कि यह टीम युवाओं के लिए टेस्ट और एकदिवसीय में अपनी दावेदारी पेश करने के लिए अच्छी जगह है।”

मुर्तजा ने कहा कि 2014 में जब उन्हें कप्तानी सौंपी गई थी तब उनसे टीम को दोबारा बनाने के लिए कहा गया था, लेकिन अब उन्हें लगता है कि वह युवा खिलाड़ियों का रास्ता रोक रहे हैं।   भारत के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के कुछ ऐसे रिकॉर्ड जिन्हें आने वाले समय तोड़ पाना मुश्किल

उन्होंने कहा, “जब टी-20 शुरू हुआ तब से मुझे इस प्रारूप में खेलना पसंद नहीं था। मैंने पांच विश्व कप खेले, लेकिन कभी मुझे अच्छा नहीं लगा। इसकी वजह मेरी चोट भी हो सकती है। यह प्रारूप काफी तेज है और इसी कारण आपको अपने शरीर को आराम देने का मौका नहीं मिल पाता है। खासकर मेरे पांव, जिनमें काफी दर्द होता है।”

उन्होंने कहा, “मैं फिर भी खेलता रहा, क्योंकि क्रिकेट बोर्ड ने मुझे कप्तान बनाया था। मैंने इस टीम को बनाने के लिए बहुत कोशिश की। मैं नहीं जानता कि मैं इसमें कितना सफल हुआ हूं। टी-20 टीम की कप्तानी करना मेरे लिए खुशी की बात थी।”

मुर्तजा ने यह नहीं बताया कि उन्हें संन्यास के लिए किसने कहा, लेकिन उन्होंने कहा कि इस पर अंतिम फैसला मैच से पहले ही हो चुका था और इस बारे में बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हुसैन को बता दिया गया था।

मुर्तजा हालांकि एकदिवसीय खेलना जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, “मैं इस समय एकदिवसीय क्रिकेट को छोड़ने के बारे में नहीं सोच रहा हूं। मैं एक बार में कई चीजों के बारे में नहीं सोचता, लेकिन टी-20 से संन्यास लेना मुश्किल फैसला था। ऐसे फैसलों में कई लोग शामिल होते हैं, जैसे कि मेरा परिवार, दोस्त, टीम के साथी और मीडिया।”

उन्होंने कहा, “मेरे दिमाग में सिर्फ एक ही बात चल रही थी, इस प्रारूप को छोड़ने की। शायद यह अचानक लिया हुआ फैसला हो सकता है। मैं इस बारे में ज्यादा नहीं सोच रहा हूं। मुझे महसूस हुआ कि मैं टी-20 नहीं खेलना चाहता।”

Related posts