बेहतरीन पारी के बावजूद पुजारा के नाम जुड़ गया शर्मनाक रिकॉर्ड..बने सबसे फिसड्डी खिलाड़ी

prashant / 18 November 2017

श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में सर्वाधिक रनों की पारी खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा के नाम आउट होते ही एक अनचाहा रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया. इससे पहले पुजारा ने भारतीय टीम के हो रहे पतझड़ को एक तरफ से संभाल कर रखा. पुजारा ने 117 गेंदों का सामना किया. उन्होंने अपनी पारी में 10 चौके लगा 52 रन बनाए. उनके आउट होते ही पूरी टीम 100 रन भी नही बना सकी और 172 में आल आउट हो गयी.

पुजारा सबसे ज्यादा बार आउट होने वाले खिलाड़ी बने-

 

चेतेश्वर पुजारा को 52 के निजी स्कोर पर श्रीलंका के तेज गेंदबाज गमागे ने बोल्ड आउट कर दिया. पुजारा के बोल्ड आउट होते ही एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हो गया, जिसे वह बिल्कुल नही बनाना चाहते थे. पुजारा टेस्ट में भारत की तरफ से सबसे अधिक बोल्ड होने वाले खिलाड़ी बन गये. पुजारा 52 टेस्ट में 18वीं बार बोल्ड हुए.

भारत की तरफ से सबसे अधिक दूसरे बोल्ड आउट होने के मामले में नाम भारत की दीवार और विष्फोटक सलामी बल्लेबाज के नाम है. राहुल द्रविड़ और वीरेन्द्र सहवाग टेस्ट में 12 बार बोल्ड हुए. जबकि तीसरे नंबर पर क्रिकेट के भगवान के नाम से प्रसिद्द सचिन तेंदुलकर हैं. वह अपने टेस्ट करियर के दौरान 11 बार बोल्ड आउट हुए.

गौरतलब है कि राहुल द्रविड़ ने 164 टेस्ट मैच खेले, वहीं वीरेन्द्र सहवाग ने 104 टेस्ट मैच खेले हैं जबकि सचिन तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मैच खेले हैं.

पुजारा कर रहे हैं लगातार प्रदर्शन-

चेतेश्वर पुजारा भले ही शनिवार को श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता टेस्ट में बड़ी पारी नहीं खेल पाए, लेकिन वे इस महीने जबर्दस्त फॉर्म में हैं. पुजारा इस महीने चार फर्स्ट क्लास पारियों में 400 से ज्यादा रन बना चुके हैं और वे भारत की तरफ से पिछले दो सालों में निरंतरता के साथ श्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं.

हर मैच में लगा रहे हैं शतक-

पुजारा टीम इंडिया के लिए ‍2016-17 सत्र से लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने इसके बाद से हुए 17 टेस्ट मैचों में 13 टेस्ट मैचों में 50 प्लस की पारी खेली है. यदि बात करें इस महीने की तो उनका बल्ला लगातार रन उगल रहा है. इस मैच से पहले रणजी मैच में अपनी टीम के लिए चार पारियों में 100 से ज्यादा की औसत से उन्होंने 441 रन बनाए हैं.