सौरव गांंगुली ने महेंद्र सिंह धोनी के खिलाफ मनोज तिवारी के साथ मिलकर बनाया था रणनीति, अनजान धोनी को खोना पड़ा मैच 1

दिल्ली: विजय हजारे ट्रॉफी में बंगाल टीम के कप्तान मनोज तिवारी ने झारखंड के खिलाफ सेमीफाइनल में जीत के बाद कहा कि सौरव गांगुली की सलाह काम आयी। मैच से गांगुली ने मनोज से कहा था कि धोनी के खिलाफ गेंद ऑफ स्टम्प के बाहर फेंकना। ऐसा करना बंगाल के लिए फायदेमंद साबित हुआ।  पार्थिव पटेल ने रिद्धिमान साहा की तारीफ़ करते हुए अंपायरों की गलतियों पर उठाये सवाल

मैच जीतने के बाद मनोज ने कहा, ”दादा ने कहा था कि धोनी के पास बल्लेबाजी की बेहतरीन कला है और वो मजबूती के साथ खेलते हैं। इसलिए ये कोशिश करना कि उनके खिलाफ गेंदों को ऑफ स्टम्प के बाहर रखना। लेकिन हमारी गेंदे काफी नीचे पड़ रही थी। हालांकि गेंदबाजों ने अच्छी कोशिश की। जब उन्होंने आमिर गनी की दो गेंदों पर छक्के मारे तब मैने फिर से गेंदों को ऑफ स्टम्प के बाहर रखने की सलाह दी।”

जब पूछा गया कि उन युवा खिलाड़ियों के लिए आप क्या कहना चाहेंगे जिन्होंने पहली बार धोनी के खिलाफ खेला, इसका जवाब देते हुए मनोज ने कहा, ”हमारे खिलाड़ियों ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया। टीम में बहुत बड़ा नाम न होने के बावजूद हमने अच्छी क्रिकेट खेली। महत्वपूर्ण यह रहा कि हमने बिना किसी डर के अपना प्रदर्शन किया। हमारी टीम में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। जिन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।”   अंतिम दो टेस्ट मैचों के लिए चुनी गयी भारतीय टीम के चयनकर्ताओं के चार बड़े ही चौंकाने वाले फैसले, जो है समझ से परे

तिवारी का मानना है कि प्रज्ञान ओझा के लिए यह बहुत ही बेतरीन मैच रहा है। ओझा के बारे में कहा, ”प्रज्ञान ने बंगाल के लिए इस मैच में सबसे ज्यादा विकेट झटके हैं। अशोक डिंडा ने 2015-16 में कुछ इसी तरह का प्रदर्शन किया था। उन दोनों ने अच्छी गेंदबाजी की है। ओझा ने इस मैच में 71 रन देकर 5 विकेट लिए हैं। जो कि एक अच्छा प्रदर्शन है। सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह रहा कि उन्होंने धोनी को आउट किया। धोनी के आउट होते ही मुझे पता चल गया था कि मैच अब जल्दी ही खत्म हो जायेगा।”

तिवारी ने अपनी बात को खत्म करते हुए कहा, ”श्रीवत्स और अभिमन्यु ने बहुत ही जबरदस्त बल्लेबाजी की है। मैंने कहा था कि 10 ओवर खेलने के बाद बड़े शॉट मार सकते हैं, लेकिन इससे पहले टीम को मजबूत स्थिति में लाने की जरूरत है। इन दोनों ने ऐसा ही किया और अच्छी शुरुआत के साथ बड़ा स्कोर भी बनाया।”