भारत के लिए दो विश्वकप और चैंपियंस ट्राफी जीताने वाले महेंद्र सिंह अब एक ऐसे ख़िताब के करीब, जिसे अभी तक हासिल नहीं कर सके है माही | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत के लिए दो विश्वकप और चैंपियंस ट्राफी जीताने वाले महेंद्र सिंह अब एक ऐसे ख़िताब के करीब, जिसे अभी तक हासिल नहीं कर सके है माही 

भारत के लिए दो विश्वकप और चैंपियंस ट्राफी जीताने वाले महेंद्र सिंह अब एक ऐसे ख़िताब के करीब, जिसे अभी तक हासिल नहीं कर सके है माही

महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया की कप्तानी भले ही छोड़ दी हो, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व कप्तान इन दिनों घरेलू क्रिकेट में अपने राज्य की टीम की अगुवाई करते हुए नज़र आ रहे है. धोनी ने झारखण्ड के लिए इस विजय हज़ारे ट्रॉफी में कई बड़ी पारियां खेली और टीम को जीत दिलाई.

महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया के लिए आईसीसी के सभी बड़े इवेंट अपने नाम किए है, टीम इंडिया के लिए धोनी ने टी-20 विश्वकप, टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक का स्थान, 2011 का विश्वकप और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी भी अपने नाम की.धोनी की टीम की जीत के सबसे अहम खिलाड़ी पर भड़के दर्शक, वजह काफी चौकाने वाली

यह सब हासिल करने के बाद भी घरेलू क्रिकेट का सबसे बड़ा वनडे टूर्नामेंट हासिल करने का मौका धोनी को अभी तक नहीं मिला है. हम बात कर रहे है, विजय हज़ारे ट्रॉफी की, धोनी पहली बार घरेलू क्रिकेट में अपने राज्य की अगुवाई कर रहे है और धोनी की कप्तानी में टीम ने जम्मू और कश्मीर की टीम को हराकर क्वाटरफाइनल में अपनी जगह पक्की है.

धोनी की टीम के लिए हैदराबाद ने पहले ही रास्ता आसान कर दिया था, जब उन्हें सर्विसेज के सामने 88 रनों पर घुटने टेक दिए. धोनी ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया और जम्मू और कश्मीर को पहले बल्लेबाज़ी का नियोता दिया.हैमिल्टन वनडे : मार्टिन गप्टिल ने वापसी के साथ ही तोड़ डाला महेंद्र सिंह धोनी का सबसे बड़ा रिकॉर्ड

जम्मू और कश्मीर ने बल्लेबाज़ी करते हुए 184 रन बनाए, झारखण्ड की ओर से गेंदबाज़ी करते हुए शाबाज़ नदीम ने पांच विकेट हासिल किए.

झारखण्ड की ओर से बल्लेबाज़ी के दौरान सबसे ज्यादा रन कुमार देओब्रत ने बनाए, देओब्रत के बल्ले से चार छक्के और पांच चौकों की मदद से 78 रन निकले.विडियो : जब दिखा गंभीर और धोनी के बीच रिश्तो के कड़वाहट का सच

धोनी ने आखिर में अपने ही अंदाज़ में छक्का लगाकर मैच में अपनी टीम को जीत दिलाई और क्वाटर फाइनल में जगह बनाई.

Related posts