बिना बल्लेबाजी किये ही धोनी ने बनाया टी20 क्रिकेट का सबसे बड़ा रिकॉर्ड

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

IPL 2018: धोनी को नहीं मिला बल्लेबाजी का मौका लेकिन दिग्गज ने बना डाला टी-20 का सबसे बड़ा रिकॉर्ड 

IPL 2018: धोनी को नहीं मिला बल्लेबाजी का मौका लेकिन दिग्गज ने बना डाला टी-20 का सबसे बड़ा रिकॉर्ड
©IPL/BCCI

आईपीएल के 11 वें सीजन का फाइनल मुकाबला कल देर रात रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम पर खेला गया था जिसमें महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नई सुपर किंग्स ने दमदार प्रदर्शन करते हुए सनराइजर्स हैदराबाद को हरा दिया है और इस सीजन को अपने नाम कर दिया है। चेन्नई सुपर किंग्स जो दो साल बाद आईपीएल में खेलने उतरी और आते ही अच्छी वापसी की।

IPL 2018: धोनी को नहीं मिला बल्लेबाजी का मौका लेकिन दिग्गज ने बना डाला टी-20 का सबसे बड़ा रिकॉर्ड 1
फोटो क्रेडिट-बीसीसीआई

इस मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी शानदार कप्तानी दिखाते हुए अपने नाम एक बड़ा रिकॉर्ड किया है। इससे पहले आपको बता दें कि कल खेले गए मैच में सीएसके के कप्तान धोनी ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। इसके बाद सनराइजर्स हैदराबाद ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 178 रन बनाये थे, जिसमें अनुभवी युसूफ पठान ने सर्वाधिक 45 रनों की नाबाद पारी खेली।

इसके बाद 179 रन बनाने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स की शुरुआत खराब और धीमी मिली और ऐसा प्रतीत हो रहा था कि इसमें मैच में माही की टीम को हार का सामना करना पड़ेगा, लेकिन फिर शेन वॉटसन ने ऐसी बाजी पलटी कि मैच अचानक से चेन्नई के पक्ष में चला गया।

IPL 2018: धोनी को नहीं मिला बल्लेबाजी का मौका लेकिन दिग्गज ने बना डाला टी-20 का सबसे बड़ा रिकॉर्ड 2
फोटो क्रेडिट-बीसीसीआई

वहीं इस जीत के साथ ही कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी अपने नाम एक बड़ा रिकॉर्ड बना दिया है। जी हाँ, आपको बता दें कि धोनी की यह बतौर कप्तान टी20 क्रिकेट में 150 वीं जीत थी और ऐसा कारनामा करने वाले ये इकलौते कप्तान बन गए है। इनके अलावा कोई भी कप्तान अपनी टीम को 100 बार भी जीत नहीं दिला पाया है। हालाँकि गौतम गंभीर ने अपनी कप्तानी में 98 मैचों में जीत दिलाई है और ये दूसरे नंबर पर बने हुए है।

इसके बाद शेन वॉटसन ने घातक बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 57 गेंदों का सामना करते हुए 117 रन बनाये जिसमें इन्होंने 8 गगनचुंबी छक्के भी लगाये और इस जीत में अहम भूमिका निभाई। हालांकि, इन्होंने 10 गेंदों के बाद अपना खाता खोल पाए थे।

Related posts

Leave a Reply