विपक्षी टीम को हमेशा दबाव में रखते हैं महेंद्र सिंह धोनी : मैकुलम

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

CWC 2019: ब्रेंडन मैकुलम ने कहा विराट और बुमराह नहीं इस भारतीय खिलाड़ी की वजह से दबाव में रहते हैं विरोधी 

CWC 2019: ब्रेंडन मैकुलम ने कहा विराट और बुमराह नहीं इस भारतीय खिलाड़ी की वजह से दबाव में रहते हैं विरोधी

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बहुत ही जल्द इंग्लैंड और वेल्स के मैदानों पर आईसीसी एकदिवसीय विश्व कप शुरू होने वाला हैं. वनडे विश्व कप का 12वां संस्करण शुरू होने में अब बस मात्र 10 दिन का समय शेष रह गया हैं. विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम को वर्ल्ड कप जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा हैं.

टीम इंडिया परसों यानी बुधवार, 22 मई को इंग्लैंड के लिए रवाना होगी. चूँकि टीम इंडिया को विश्व कप जीतने का मुख्य दावेदार माना जा रहा हैं, तो इसके पीछे की एकमात्र सबसे बड़ी वजह पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह का होना हैं.

सभी के बीच है धोनी का खौफ 

इस बात में कोई भी शक नहीं हैं, कि महेंद्र सिंह धोनी की मौजूदगी से ही सामने वाली टीमों में दहशत सी बन जाती हैं. मौजूदा समय में तो एमएस धोनी की फॉर्म भी बेहद ही शानदार हैं. साल 2019 में तो मानों जैसे एमएस धोनी यह ठान कर खेल रहे हैं, कि इस बार देश को विश्व विजेता बनाकर ही छोड़ेगे.

न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ने बांधे तारीफों के पुल. हाल में ही आईसीसी के ऑफिसियल ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स के इस शो में ब्रेंडन मैकुलम ने महेंद्र सिंह धोनी की तारीफों के जमकर पुल बांधे. शो ‘फाफ-15’ में ब्रेंडन मैकुलम ने अपने बयान में धोनी को लेकर कहा, कि

”धोनी टीम इंडिया के लिए सबसे अनमोल हैं. उनके पास खेल के लिए सोच के साथ साथ उनके दिमाग में खेल को लेकर बाकी विचार भी चलते रहते हैं. वह जब क्रीज पर आते हैं, तो मैच को पूरी तरह से पढ़ लेते हैं और उसके बाद विपक्षी टीम को हमेशा दबाव में रखते हैं. धोनी की फिटनेस भी बहुत ही अच्छी हैं और हाल के दिनों में उन्होंने गेंद को बहुत ही अच्छे से सीमा रेखा के पार भेजा हैं.”

पीटरसन ने भी कहे बड़े शब्द 

ब्रेंडन मैकुलम के साथ साथ इसी शो में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने भी अपने बयान में एमएस धोनी को लेकर कहा, कि

”उनकी शांति, उन्हें इस बात को परखने की क्षमता देती हैं कि उनके सामने क्या हैं. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह किस हालात में हैं…

इस आईपीएल में भी सबसे अच्छी बात यह रही कि, हम सभी को धोनी की बल्लेबाजी का पुनर्जन्म देखने को मिला. उन्होंने गेंदबाजो पर कई आक्रमण भी किये.”

Related posts