चैंपियंस ट्रॉफी के बाद किया गया था अश्विन और जडेजा को टीम से बाहर, अब एमएसके प्रसाद ने दी सफाई 1

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल में भारत को पाकिस्तान के हाथों करारी हार मिली थी। उस हार के बाद भारतीय टीम मैनेजमेंट और एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली चयन समिति ने बड़ा फैसला किया था। टीम के दो प्रमुख स्पिनर रविंद्र जाडेजा और रविचंद्रन अश्विन को टीम से बाहर कर दिया गया। दोनों गेंदबाज बीच के ओवर में विकेट लेने में असफल हो रहे थे और इसी वजह से यह फैसला किया गया।

कुलदीप-चहल को मिला था मौका

यजुवेंद्र चहल

रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन के टीम से बाहर होने के बाद कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को मौका दिया गया था। इन दोनों खिलाड़ियों ने लगातार शानदार प्रदर्शन किया। इसी वजह से दोनों खिलाड़ियों को टीम से बाहर रहना पड़ा।

एशिया कप 2018 में हार्दिक पांड्या के चोटिल होने के बाद जाडेजा को टीम में शामिल कर लिया गया लेकिन अश्विन अभी तक बाहर चल रहे हैं। विश्व कप 2019 के बाद वेस्टइंडीज दौरे पर टी-20 टीम में भी उनकी वापसी हो गई है।

एमएसके प्रसाद ने दी प्रतिक्रिया

एमएसके प्रसाद

भारतीय टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद हमेशा विवादों में रहे हैं। कई खिलाड़यों ने उनपर आरोप लगाया था कि टीम से बाहर करने पर उन्हें कारण नहीं बताया गया है। अश्विन और जडेजा के बाहर हो पर प्रसाद ने स्पोर्टस्टार से बात करते हुए कहा

“आपको क्यों लगता है कि हमने बात नहीं की? मैंने यह पक्का किया कि सभी चयनकर्ता जाकर अश्विन और जडेजा से बात करें और फिर फैसला लें। चैंपियंस ट्रॉफी के बाद पूरी चयन समिति ने उन दोनों से बात की थी।”

टेस्ट में बने हुए हैं

चैंपियंस ट्रॉफी के बाद किया गया था अश्विन और जडेजा को टीम से बाहर, अब एमएसके प्रसाद ने दी सफाई 2

रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन भले ही टी-20 और वनडे टीम से बाहर हो गए थे लेकिन टेस्ट टीम में लगातार बने हुए हैं। वह टीम में प्रमुख खिलाड़ी हैं। भारत की जीत में गेंद के साथ ही बल्ले से दोनों की भूमिका अहम रही है।

वनडे टीम में जडेजा की वापसी हो गई है और उनका प्रदर्शन भी अच्छा रहा है। उन्होंने विश्व कप 2019 के सेमीफाइनल में 78 रनों की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह पक्की कर ली थी।