एमएसके प्रसाद ने अपने कार्यकाल को लेकर कही ये बड़ी बात

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारत के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद ने शेयर किया अनुभव, इस बात है उन्हें मलाल 

भारत के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद ने शेयर किया अनुभव, इस बात है उन्हें मलाल

भारतीय क्रिकेट कन्ट्रोल बोर्ड की हाल ही में हुई एजीएम में अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कई बड़े फैसले लिए जिसमें से एक उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ता पैनल के कार्यकाल को खत्म कर दिया है। इसके साथ ही अब एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता में कार्यरत चयन समिति के स्थान पर नई चयन समिति की गठन किया जाएगा।

एमएसके प्रसाद ने अपने कार्यकाल को लेकर कही बड़ी बात

इसके साथ ही तीन साल से ज्यादा समय से भारतीय क्रिकेट टीम का चयन करने का काम कर रहे मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने अपने कार्यकाल को लेकर कई बातों को साझा किया जिसमें उन्होंने अपनी आलोचना का भी जिक्र किया।

विश्व कप

एसएसके प्रसाद ने चयनकर्ता के रूप में कार्यकाल के खत्म होने के बाद माना कि उनके कार्यकाल में वैसे तो कई बड़े टूर्नामेंट जीते लेकिन इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका में नहीं जीतने का मलाल रहेगा।

दक्षिण अफ्रीका-इंग्लैंड में सीरीज नहीं जीतने का मलाल

एमएसके प्रसाद ने कहा कि “मुझे लगता है कि 3 साल के लिए टेस्ट में हमारी टीम नंबर 1 रैंकिंग ने मुझे सबसे बड़ी संतुष्टि दी है। हमने न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया नें वनडे सीरीज जीती। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीत निश्चित रूप से सबसे प्यारी जीत थी।”

भारत के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद ने शेयर किया अनुभव, इस बात है उन्हें मलाल 1

“मेरा सबसे बड़ा अफसोस विदेशी हार होगा। मुझे दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में वास्तव में जो हुआ उसका उल्टा देखना अच्छा लगता। हमारी टीम में सबकुछ था। हमारी टीम जिस तरह से लड़ी, वो जीतने के लिए योग्य थी। लेकिन एजबेस्टन और साउथैम्टन के साथ केपटाउन में अहम पलों के लिए, परिणाम दूसरे तरीके से हो सकते थे।”

घरेलू क्रिकेट को ध्यान में रखकर भी चुनी टीम

भारत के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने आगे कहा कि” मैंने कभी दबाव महसूस नहीं किया। विचार की स्पष्टता न होने पर आप केवल बेचैन और असहज महसूस करेंगे। खिलाड़ियों को चुनते समय हम बहुत स्पष्ट थे।”

भारत के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद ने शेयर किया अनुभव, इस बात है उन्हें मलाल 2

आपको अपनी योजना पर विश्वास करना चाहिए और इसे अपनी क्षमताओं के अनुसार निष्पादित करना चाहिए। फिर आपको इस बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है कि बाहर क्या हो रहा है। सही खिलाड़ियों को चुनने के लिए हम सभी ने बहुत सारे घरेलू क्रिकेट देखा है। हम सभी के बीच बहुत सारे क्रिकेट पर चर्चा होती है।

आलोचना है इस काम का हिस्सा

पिछले तीन साल के काम कर रहे प्रसाद ने आगे कहा कि “इसे व्यापक यात्रा की जरूरत थी। हमने साल में लगभग 220-220 दिन की यात्रा की। हमने पिछले 2 साल में निरंतरता के आधार पर कुछ खिलाड़ियों को गोल किया। हमने उन्हें भारत ए प्रक्रिया के माध्यम से तैयार किया। हमने उनका समर्थन किया और जब और जैसी जरूरतें थी, हमने बेंच स्ट्रैंथ को तैयार किया।”

भारत के मुख्य चयनकर्ता के रूप में एमएसके प्रसाद ने शेयर किया अनुभव, इस बात है उन्हें मलाल 3

“आज हमारे पास मुख्य लोगों के अलावा 6 गुणवत्ता वाले स्पिनर हैं। हमें अपने 5 मुख्य तेज गेंदबाजों के अलावा 4 तेज गेंदबाज मिले हैं। वे इच्छाशक्ति में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए पर्याप्त हैं।”

“आलोचना करना इस काम का हिस्सा है और दबाव भी। ये केवल उस पद के कारण आता है। जिसे हम पकड़ रहे हैं। मुझे यकिन है कि हमने उसे संभालने की पूरी कोशिश की। हम वास्तव में जिस तरह से हमने किया था। उसे संभालने को लेकर खुश हैं।

Related posts