/

OMG! दुबई एयरपोर्ट पर एक बार फिर से हिरासत में लिया गया यह दिग्गज क्रिकेटर, पहले भी कर चुका हैं गैरकानूनी काम

2010-11 में इंग्लैंड दौरे में स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में फंसे पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ एक बार फिर सुर्खियों में आ गये है.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

दरअसल, इस बार मोहम्मद आसिफ दुबई एयरपोर्ट में अपने वीजा संबंधी दस्तावेज की कानूनी प्रक्रिया को लेकर सुर्खियों में आये है.

मोहम्मद आसिफ के पास नहीं थे यात्रा करने के सही दस्तावेज 

OMG! दुबई एयरपोर्ट पर एक बार फिर से हिरासत में लिया गया यह दिग्गज क्रिकेटर, पहले भी कर चुका हैं गैरकानूनी काम 1

दरअसल, पाकिस्तानी टीम के फिक्सिंग में लिप्त पाये गये तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ टेप बॉल टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए शारजाहाँ जा रहा थे, लेकिन इसी बीच दुबई एयरपोर्ट पर उन्हें पुलिस अधिकारीयों ने वीजा संबंधी दस्तावेज के लिए रोक लिया. दरअसल, उनके पास यात्रा करने के सही दस्तावेज नहीं थे.

भेजा गया वापस पाकिस्तान 

OMG! दुबई एयरपोर्ट पर एक बार फिर से हिरासत में लिया गया यह दिग्गज क्रिकेटर, पहले भी कर चुका हैं गैरकानूनी काम 2

सूत्रों के मुताबिक, मोहम्मद आसिफ शारजाह में टेप बॉल टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए लाहौर से दुबई हवाई अड्डे पर पहुंचे थे, लेकिन सुरक्षाकर्मियों की जाँच के दौरान अधिकारियों द्वारा उन्हें अलग करने के लिए कहा गया. कुछ घंटो के लिए अधिकारियों ने उन्हें हिरासत में भी लिया और बाद में उन्हें वापस पाकिस्तान भेज दिया गया.

विदेश मंत्रालय का क्लियरेंस पत्र ना होने के कारण भेजा गया वापस 

OMG! दुबई एयरपोर्ट पर एक बार फिर से हिरासत में लिया गया यह दिग्गज क्रिकेटर, पहले भी कर चुका हैं गैरकानूनी काम 3

दुबई एयरपोर्ट पर 10 साल पहले आईपीएल खेलकर लौटने के बाद अफीम के साथ पकड़े गये थे और दुबई पुलिस ने इसके लिए उन्हें 2 सप्ताह तक जेल में भी रखा था. हालाँकि बाद में पीसीबी ने उन्हें छुड़ा लिया था.

अब जब वह एक बार फिर दुबई खेलने के लिए रवाना हो रहे थे, तो उन्हें अपने विदेश मंत्रालय से क्लियरेंस पत्र की जरुरत थी, लेकिन वह जरुरी पत्र उनके पास नहीं था.

मोहम्मद आसिफ ने खुद की इस बात की पुष्टि 

OMG! दुबई एयरपोर्ट पर एक बार फिर से हिरासत में लिया गया यह दिग्गज क्रिकेटर, पहले भी कर चुका हैं गैरकानूनी काम 4

जियो न्यूज़ से बात करते हुए आसिफ ने कहा, “मैं जब हवाईअड्डे पहुंचा तो मुझे विदेश मंत्रालय से मिले पत्र के बारे में पूछा गया. यह पत्र मुझे अबुधाबी से मिलना था. मुझे पहले ही क्लियरेंस मिल चुका था. जिसके बाद मुझे वीजा दिया गया था, लेकिन क्लियरेंस पत्र नहीं होने के कारण मुझे संयुक्त अरब अमीरात में प्रवेश की अनुमति नहीं मिली.”