//

चेन्नई सुपर किंग्स या मुंबई इंडियंस? अंबाती रायडू ने बताया अपनी पसंदीदा आईपीएल फ्रेंचाइजी

अंबाती रायडू

कोरोना वायरस के चलते इस वक्त दुनियाभर के क्रिकेट कार्यक्रम ठप्प हैं. भारत में कोरोना की गंभीरता को समझते हुए बीसीसीआई ने आईपीएल 2020 को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया है. भले ही आईपीएल को आगे बढ़ा दिया गया है लेकिन फ्रेंचाइजी अपने प्रशंसकों के मनोरंजन के लिए इंस्टाग्रमा पर अपनी टीम के खिलाड़ियों के साथ लाइव चैट करते नजर आते हैं. अब इसी क्रम में अंबाती रायडू ने बताया है कि उनकी पसंदीदा फ्रेंचाइजी कौन सी है.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

मुंबई या चेन्नई?

अंबाती रायडू

मध्य क्रम के विस्फोटक बल्लेबाज अंबाती रायडू ने अपने आईपीएल करियर की शुरुआ मुंबई इंडियंस के साथ खेलते हुए की थी. मगर 2018 से रायडू महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा हैं. अब चल रहे लॉकडाउन में चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने सीनियर खिलाड़ी अंबाती रायडू के साथ एक लाइव चैट की. इस चैट के दौरान रायडू से जब पूछा गया कि मुंबई और चेन्नई में से उनकी फेवरेट टीम कौन सी है. तो उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स को चुनते हुए कहा,

इस टीम से सभी भावनात्मक रूप से जुड़े हैं. सीएसके के फैंस बहुत ही लॉयल हैं और जैसा कि किसी दूसरी टीम के लिए नहीं हो सकते.

साथ ही रायडू ने दोनों फ्रेंचाइजी में अंतर बताते हुए कहा,

चेन्नई में माहौल शांत है, यहां खिलाड़ियों की क्षमता पर अधिक विश्वास किया जाता है, जबकि मुंबई में आपको अपनी भूमिका निभाने पर फोकस करना होता है.

2018 से सीएसके का हिस्सा हैं रायडू

आईपीएल 2010 में अंबाती रायडू ने मुंबई इंडियंस के साथ अपना डेब्यू किया. 2017 तक मुंबई का हिस्सा रहे अंबाती रायडू को 2018 के मैगा ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स ने रायडू को खरीदकर अपनी टीम में शामिल कर लिया है. फिलहाल तो आईपीएल 2020 को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है. मगर इससे पहले चेन्नई में शुरु हुए ट्रेनिंग कैंप में सुरेश रैना के साथ रायडू प्रैक्टिस करते नजर आए थे.

अंबाती रायडू ने किया संन्यास से वापसी

अंबाती रायडू

टीम इंडिया के नंबर-4 बल्लेबाजी क्रम के पक्के दावेदार माने जा रहे अंबाती रायडू को आईसीसी विश्व कप 2019 टीम में चुना नहीं गया था और उन्हें कवर प्लेयर बताया गया था. मगर शिखऱ धवन और फिर विजय शंकर के इंजर्ड होने के बाद उन्हें लगातार नजरअंदाज किया गया.

इसके चलते खिलाड़ी ने आवेश में आकर संन्यास का ऐलान कर दिया था. हालांकि बाद में रायडू ने संन्यास से वापसी कर ली और अपनी घरेलू टीम हैदराबाद का नेतृत्व करते नजर आए हैं. मगर कुछ वक्त बाद रायडू ने हैदराबाद की कप्तानी छोड़ दी.