मुरली विजय को सलामी बल्लेबाज के रूप में नियमित जगह मिलने की उम्मीद

SAGAR MHATRE / 13 July 2015

जिंबाब्वे के खिलाफ दूसरे वनडे में अपने वनडे करियर का पहला अर्धशतक लगाने वाले मुरली विजय वनडे क्रिकेट में भी अपनी छाप छोडने को बेताब है.

दों साल बाद वनडे टीम में चुने गये विजय ने दुसरे वनडे में शानदार 72 रन की पारी खेली, और मैन अॉफ द मैच चुने गये.

मैच के बाद बीसीसीआई की वेबसाईट से बात करते हुए विजय ने कहा, मै मेरी पारी से बहुत खूश हू. ऐसी हालात में अच्छी शुरूआत करना बेहद जरूरी होता है. पहले वनडे के बाद हमने ये तय किया था कि, हमे शुरूआत में विकेट नहीं खोनी है. हमने इस मैच में अच्छी शुरूआत की, रहाणे और मेरे बीच अच्छी साझेदारी हुई, जिससे हम बडा स्कोर खडा कर पाए. मै और बडी पारी खेल सकता था, लेकिन खेल में ऐसा होता रहता है. आखिर में हमारी जीत ही हुई.

जब उनकी तकनीक पर पुछा गया तो उन्होंने कहा, सच बताऊ तो मैंने अपनी तकनीक में कोई बदलाव नहीं किया. पहले मैच में, मै जल्दी आऊट हो गया था लेकिन मेरी तकनीक में कोई खामी नहीं थी. मुझे बस शॉट का सही चयन करना जरूरी है, और दुसरे वनडे में, मै ऐसा करने में सफल रहा.

उन्होंने आगें कहा, ये विकेट काफी अजीब है. यहाँ  आप कितना भी टिकें हो लेकिन एक अच्छी गेंद आपको आऊट कर सकती है. मैने शुरूआत में धीमा खेला और सोचा की जैसे ही विकेट अच्छा हो मै अपने शॉट खेलूंगा.

Related Topics