मुश्ताक अहमद ने कहा, भारत-पाकिस्तान की सीरीज एशेज से बड़ी 1

भारत और पाकिस्तान के बीच 2012 के बाद द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। दोनों टीमें सिर्फ आईसीसी और एसीसी की टूर्नामेंट में आपस में खेलते हैं। राजनीतिक रिश्ते और आंतकवाद की वजह से बीसीसीआई पाकिस्तान के साथ खेलने को तैयार नहीं होती। दूसरी तरफ पाकिस्तान हमेशा भारत के खिलाफ खेलने की मांग करता है। पाकिस्तान ने पूर्व लेग स्पिनर मुश्ताक अहमद भी भारत-पाकिस्तान सीरीज के पक्ष में हैं।

मुश्ताक अहमद का आया बयान

मुश्ताक अहमद ने कहा, भारत-पाकिस्तान की सीरीज एशेज से बड़ी 2

पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिन गेंदबाज मुश्ताक अहमद का मानना है कि भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट शुरू हो जानी चाहिए। मुश्ताक ने पाकिस्तान के लिए 52 टेस्ट और 144 वनडे मैच खेले हैं। इसमें उनके नाम 346 इंटरनेशनल विकेट दर्ज हैं। आईएएनएस से बात करते हुए उन्होंने इस मुद्दे पर कहा

“मुझे लगता है कि भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट संबंधों को फिर से शुरू करना चाहिए। मुझे लगता है कि क्रिकेट में दो राष्ट्रों को बांधने और उनके रिश्ते को बेहतर बनाने की क्षमता है। क्रिकेट प्यार लाता है, यह प्रशंसकों के लिए खुशी और खुशी लाता है।”

मुश्ताक अहमद ने कहा, भारत-पाकिस्तान की सीरीज एशेज से बड़ी 3

एशेज से बड़ी सीरीज होगी

मुश्ताक अहमद ने कहा, भारत-पाकिस्तान की सीरीज एशेज से बड़ी 4

क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच होने वाली एशेज सीरीज सबसे बड़ी द्विपक्षीय सीरीज मानी जाती है। मुश्ताक अहमद का मानना है कि भारत और पाकिस्तान की सीरीज उससे बड़ी होती है। उन्होंने कहा

“दोनों देशों के लिए एक दूसरे के खिलाफ क्रिकेट खेलना महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रशंसक उन्हें खेलते देखना चाहते हैं। जब भी भारत और पाकिस्तान मिलते हैं, क्रिकेट काफी प्रतिस्पर्धी होता है। भारत-पाकिस्तान सीरीज एशेज से बड़ी है।”

क्रिकेट करेगा मदद

मुश्ताक अहमद ने कहा, भारत-पाकिस्तान की सीरीज एशेज से बड़ी 5

मुश्ताक अहमद का मानना है कि क्रिकेट रिश्तों को बेहतर करने में मदद करेगा। इससे दोनों देशों के नेताओं के बीच बातचीत भी बढ़ सकती है। उन्होंने आगे कहा

“जब हम क्रिकेट खेलेंगे, तो चीजें आसान हो जाएंगी। यह राजनेताओं को बातचीत करने के साथ ही चीजों को सही रास्ते पर लाने में मदद करेगा। इसीलिए मुझे लगता है कि दोनों सरकारों के बीच बातचीत की आवश्यकता है।”