पाकिस्तान के इस खिलाड़ी ने ली अपनी मां से प्रेरणा, देहान्त के बाद आंसुओं को हथियार बनाकर बना घातक गेंदबाज 1

एशिया कप 2022 के महामुकाबले में हार्दिक पांड्या और रविंद्र जडेजा की बल्लेबाजी के दम पर भले ही भारत पाकिस्तान को 5 विकेट से हराने में कामयाब हो पाया, लेकिन इसके बावजूद मैच का पूरा लाइमलाइट पाकिस्तानी युवा गेंदबाज नसीम शाह (Naseem Shah) ले गये। दरअसल, गेंदबाजी के दौरान वो चोटिल हो गये थे लेकिन उसके बाद भी उन्होंने अपनी गेंदबाजी नहीं रोकी। मुकाबले के दौरान उनके जज्बे को सभी सलाम कर रहे हैं।

भारत के खिलाफ नसीम शाह ने लूटी लाइमलाइट

Naseem Shah
Naseem Shah

एशिया कप 2022 के अपने पहले ही मुकाबले में भले ही पाकिस्तान को 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा हो लेकन उसके बावजूद युवा गेंदबाज नसीम शाह (Naseem Shah) की गेंदबाजी के जज्बे का सभी फैन बन चुके हैं। बता दें कि इसी मैच से उन्होंने पाकिस्तान के लिए अपना डेब्यू किया और अपने पहले ही मुकाबले के पहले ही ओवर में के एल राहुल जैसे विस्फोटक बल्लेबाज को बिना खाता खोले ही पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। इतना ही नहीं विराट कोहली जैसे अनुभवी बल्लेबाज को भी उन्होंने बड़ा स्ट्रोक नहीं खेलने दिया। पूरे 4 ओवर गेंदबाजी करते हुए नसीम शाह ने 27 रन देकर 2 विकेट चटकाए।

दर्द के बावजूद नहीं रूके

Naseem Shah
Naseem Shah

बारतीय बल्लेबाजी के दौरान पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने 18वां ओवर नसीम शाह (Naseem Shah) को थमा दिया। गर्मी और उमस की वजह से नसीम के पैरों में क्रैंप होने लगा और वो गेंदबाजी करने में असमर्थ दिखने लगे। लेकिन इसके बावजूद वो मैदान छोड़कर नहीं गये और अपना ओवर पूरा किया।

अपने ओवर के दौरान उन्होंने फॉर्म में चल रहे रविंद्र जडेजा को LBW भी किया था लेकिन थर्ड अंपायर की वजह से फैसला बदलना पड़ा। शाह ने दर्द के बावजूद उन्होंने काफी शानदार गेंदबाजी की और उनके इस जज्बे ने क्रिकेट फैंस का दिल जीत लिया। बता दें कि नसीम शाह (Naseem Shah) के अंदर इतनी हिम्मत इनकी मां के वजह से आयी थी।

मां से मिली हिम्मत

Naseem Shah
Naseem Shah

एनबीटी की एक खबर के अनुसार नसीम शाह (Naseem Shah) जब ऑस्ट्रेलिया में पाकिस्तान ए की तरफ से मुकाबला खेल रहे थे तब उनकी मां का देहान्त हो गया था। PSL में खेलने के दौरान उन्होंने बताया था कि वो अपनी मां के बेहद करीब थे। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि वे अपनी मां के वजह से ही यहां तक पहुंचने में कामयाब हो पाये हैं। मैच की बात करें तो भारत से हारने के बाद पाकिस्तान का अगला मुकाबला हांग-कांग के साथ 2 सितंबर को होने वाला है।

One reply on “पाकिस्तान के इस खिलाड़ी ने ली अपनी मां से प्रेरणा, देहान्त के बाद आंसुओं को हथियार बनाकर बना घातक गेंदबाज”

Comments are closed.