//

RESPECT: देश की सेवा में लिप्त यह क्रिकेटर, आखिर बार नहीं देख पाया माँ का चेहरा

Pakistan's cricketers celebrate after the dismissal of Sri Lanka's batsman Avishka Fernando during the third and last one day international (ODI) cricket match between Pakistan and Sri Lanka in Karachi on October 2, 2019. (Photo by Asif HASSAN / AFP) (Photo by ASIF HASSAN/AFP via Getty Images)

इन दिनों पाकिस्तान की टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे पर है. जहां उसे टी-20 सीरीज में 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था. वहीं 21 नवंबर से 3 दिसंबर तक पाकिस्तान की टीम को 2 मैचों की टेस्ट सीरीज ऑस्ट्रेलिया से खेलनी है. इस टेस्ट सीरीज से पहले पाकिस्तान की टीम ऑस्ट्रेलिया ए से एक तीन दिन का अभ्यास मैच खेल रही है. जिसके दूसरे दिन का खेल आज मंगलवार को खेला जा रहा है.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

नसीम शाह ने माँ के निधन के बावजूद टीम के साथ रहने का किया फैसला

RESPECT: देश की सेवा में लिप्त यह क्रिकेटर, आखिर बार नहीं देख पाया माँ का चेहरा 1

16 वर्षीय युवा तेज गेंदबाज नसीम शाह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए पाकिस्तान की टीम का हिस्सा है. मंगलवार को उनके लिए एक काफी दुखद समाचार आया. दरअसल, सोमवार को देर रात उनकी माँ का निधन हो गया.

जियों न्यूज़ से मिली खबर के अनुसार, 16 वर्षीय शाह ने पाकिस्तान के लिए खेलते रहने का फैसला किया और वह अपने घर पाकिस्तान नही जा रहे हैं.

कथित तौर पर शाह ने पाकिस्तान में अपने परिवार के सदस्यों के साथ परामर्श करने के बाद यह निर्णय लिया है.

दोनों टीमों ने ब्लैक आर्म बैंड पहनकर शोक किया व्यक्त

RESPECT: देश की सेवा में लिप्त यह क्रिकेटर, आखिर बार नहीं देख पाया माँ का चेहरा 2

नसीम शाह की माँ की मृत्यु पर पाकिस्तान व ऑस्ट्रेलिया ए दोनों ही टीमों ने शोक व्यक्त किया है. दोनों ही टीमें मैच के दूसरे दिन काली पट्टी बांधकर मैदान पर उतरी है.

बता दें, कि इस अभ्यास मैच में पाकिस्तान ने पहले खेलते हुए 428 रन बनाए थे. उनके इस स्कोर के जवाब में ऑस्ट्रेलिया ए की टीम 80 रन के स्कोर पर अपने 9 विकेट गवा चुकी है.

विराट-सचिन जैसे दिग्गज भी गुजर चुके हैं इस परिस्थिति से

विराट कोहली

साल 2006 में अपने पहले रणजी सीजन में कर्नाटक के खिलाफ मैच के दौरान विराट कोहली के पिता का निधन हो गया था. इसके बावजूद उन्होने मैच खेला था और 90 रन की शानदार पारी खेली थी.

1999 विश्व कप के दौरान सचिन तेंदुलकर के पिता भी गुजर गए थे. अपने पिता का अंतिम संस्कार करने के बाद सचिन विश्व कप खेलने वापस गए थे और उन्होंने केन्या के खिलाफ वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के लिए शतकीय पारी खेली थी.