ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब 

ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब

पाकिस्तान क्रिकेट और विवादों का पुराना नाता रहा है, पाकिस्तानी टीम जब खराब प्रदर्शन करती है तब तो बखेड़ा खड़ा होता ही है, लेकिन इस बार अच्छा प्रदर्शन करने पर भी विवाद खड़ा हो गया है | लेकिन इस बार गनीमत यह है कि इस प्रकरण में पाकिस्तानी खिलाड़ी नही है बल्कि चयनकर्ताओं की टीम है | दरअसल पाकिस्तान ने जब से अपने चिर प्रतिद्वंदी भारत को हरा कर चैंपियन ट्रॉफी जीती है तब से पाकिस्तान में जश्न का माहौल है

प्रधानमंत्री भी हुए गदगद –

ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब 1

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ इस जीत से इतना खुश हुए कि उन्होंने अपना खजाना खोल दिया और न केवल खिलाड़ियों कों पैसा बांटा बल्कि चयनकर्ताओं कों भी पैसा दिया, बस यहीं से बात बिगड़ गयी और शुरू हो गया विवाद | दरअसल नवाज़ शरीफ़ ने एक एक मिलियन सभी चयनकर्ताओं को दिया और सिलेक्शन कमिटी के अध्यक्ष व पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी इंजिमाम-उल-हक कों अलग से 10  मिलियन  का इनाम दिया| पूर्व खिलाड़ी कह रहे हैं  कि यह सरासर गलत है आखिर इंजी को 10 मिलियन का इनाम क्यों दिया, गया क्यों न ऐसा किया जाए कि पूरे पैसा मिला दिये जाए और सब को बराबर  पैसे दिये जाए |

भड़क उठे इंजी, दिया करार जवाब –

ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब 2

इस विवाद से गुस्साए इंजमाम -उल-हक ने आलोचकों कों कड़ा जवाब दिया और कहा, कि “हमने कभी किसी से नही कहा कि हमे अवार्ड दिया जाए, लेकिन जो भी बाते उठ रही है ये काफी दुखद है | क्या चयनकर्ताओ कों उनके काम का इनाम नही मिलना चाहिए?”

कहा, यह सब हासिल किया हमने- 

ज्यादा पैसा मिलने पर हो रही आलोचना से भड़के इंजमाम उल हक दिया आलोचकों को करारा जवाब 3

इंजमाम -उल-हक ने कहा कि इसी चयनटीम ने ऐसी टीम चुनी थी, जिसने इंग्लैंड में जा कर टेस्ट सिरीज़ ड्रा कराई थी | वेस्टइंडीज में जा कर 70 सालो में पहली बार सीरीज जीती और अब चैंपियंस ट्रॉफी जीती |

इंजमाम ने यह भी याद दिलाया कि यही चयनकर्ता टीम थी, जिसने सरफराज अहमद कों कप्तान बनाए जाने का फैसला किया |

Related posts