'उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो'

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा ‘उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो’ 

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा ‘उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो’

पाकिस्तान का क्रिकेट इतिहास कभी भी विवादों से अजनबी नहीं रहा है. आये दिन उसके खिलाड़ी व क्रिकेट बोर्ड नए -नए बखेड़े खड़े करते रहते है. फिर चाहे वह फिक्सिंग के लिए हो या गलत टिप्पणीयो को लेकर पाकिस्तान के क्रिकेट बोर्ड व खिलाड़ी सुर्खिया बटोर ही लेते है और आजकल एक बार फिर पाकिस्तान क्रिकेट टीम के विवादित खिलाड़ी उमर अकमल अपने गलत आचरण के चलते छाए हुए हैं.

पीसीबी ने उमर अकमल को किया हैं सस्पेंड

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा 'उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो' 1

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कुछ दिन पहले ही उमर अकमल को पीसीबी एंटी करप्शन कोड के अनुच्छेद 4.7.1 के तहत निलंबित कर दिया था. इस निलंबन के बाद अब उमर अकमल पीसीबी की भ्रष्टाचार-रोधी इकाई द्वारा की जा रही जांच के पूरे हो जाने तक क्रिकेट से संबंधित गतिविधि में भाग नहीं ले पाएंगे, इसलिए वह इनदिनों पाकिस्तान सुपर लीग भी नहीं खेल पाए थे.

अकमल जब प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था, तब भी उसे लगातार टीम में मौका मिला

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा 'उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो' 2

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज तनवीर अहमद ने अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से बोर्ड के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, “अकमल जब प्रदर्शन नहीं कर पा रहा था तब भी उसे टीम में लगातार मौका मिला इसके पीछे सिर्फ एक ही कारण था उसकी पहुंच. उस दौरान चैयरमैन और पीसीबी के अधिकारी कहां थे उन्होंने कुछ क्यों नहीं किया? किसी नें चयनकर्ताओं से क्यों नहीं पूछा कि इतने सारे विवाद के बावजूद उसके लगातार मौके क्यों दिए जा रहा हैं.”

ऐसे अनुशासनहीन खिलाड़ियों को वापस नहीं देनी चाहिए टीम में जगह 

इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा 'उमर अकमल जैसे अनुशासनहीन खिलाड़ी की कभी टीम में वापसी ना हो' 3

तनवीर अहमद ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ”पीसीबी के चेयरमैन इस दौरान बदलते गए लेकिन उमर अकमल को लगातार टीम में मौका मिला. किसी ने यह सवाल नहीं उठाया कि अकमल को इतने सारे मौके दिए जाने के बाद भी टीम में उसे वापस क्यों लिया गया. मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि अकमल को अगर 6 महीने के लिए बैन भी कर दिया तब भी वह फिर से टीम में पास आ जाएगा. मैं चाहता हूं कि ऐसे अनुशासनहीन खिलाड़ियों को किसी भी परिस्थिति में टीम में शामिल नहीं किया जाना चाहिए.”

Related posts