एशेज के लिए तैयारियों को लगा बड़ा झटका, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खुद किया खुलासा | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एशेज के लिए तैयारियों को लगा बड़ा झटका, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खुद किया खुलासा 

एशेज के लिए तैयारियों को लगा बड़ा झटका, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खुद किया खुलासा

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बुधवार को पुष्ठी की है, कि दिसम्बर में ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाला एशेज सीरीज का तीसरा टेस्ट पर्थ के नए मैदान पर नहीं खेला जाएगा.

नहीं हुआ नया स्टेडियम तैयार

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचो की एशेज सीरीज का तीसरा टेस्ट पर्थ के नए मैदान पर खेला जाना है, लेकिन क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का कहना है, कि स्टेडियम तय समयनुसार तैयार नहीं हो पायेगा, जिस कारण इस मैच पर टेस्ट मैच करना संभव नहीं हैं.  आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के द्वारा पेश किये गए इस बड़े प्रस्ताव को ठुकराया

दिसम्बर 2017 तक होना था तैयार

पहले ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड ने उम्मीद जताई थी, कि ब्रसवुड में 60,000 सीटों वाला नया स्टेडियम दिसंबर 14-18 को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाले तीसरे की मेजबानी के लिए तैयार हो जायेगा, लेकिन सीए के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड का कहना है, कि अब स्टेडियम के निर्माण कार्य में देरी हो सकती हैं.

5 टेस्ट मैचो की एशेज सीरीज ब्रिसबेन के मैदान पर 23 नवम्बर से खेली जाएगी, जबकि सीरीज के बाकि मैच मेलबोर्न, एडिलेड, सिड्नी और पर्थ(वाका) में खेले जायेगे.

स्टेडियम में देरी की पुष्ठी करते हुए जेम्स सदरलैंड ने रिपोर्टर्स से कहा,

“हम उम्मीद कर रहे थे सब कुछ सही हो जाएगा, लेकिन हमे अंत में निराशा ही हाथ लगी. हम वास्तव में उम्मीद कर रहे थे, कि इस शानदार नए स्टेडियम में टेस्ट मैच खेला जा सकता है. बहरहाल, आगे देखने के लिए बहुत कुछ है.”

नए पर्थ मैदान पर कब हो सकता है पहला मैच?

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड को उम्मीद है, कि नया पर्थ स्टेडियम एकदिवसीय सीरीज तक पूरी तरह से तैयार हो जायेगा. इस मैदान पर 28 जनवरी को एकदिवसीय सीरीज का मैच खेला का सकता हैं.

पर्थ(वाका) स्टेडियम का इतिहास

पर्थ, ब्रसवुड में बनने वाले नए स्टेडियम के निर्माण कार्य में देरी के बाद ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेले जाने वाला मैच पर्थ, वाका में खेला जाएगा. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने ही पैरो पर मारी कुल्हाड़ी, टीम के दिग्गज खिलाड़ियों को दिखाया चैम्पिन्स ट्राफी से बाहर का रास्ता

वर्ष 1970 में पर्थ, वाका को पहली बार टेस्ट मैचों की मेजबानी का मौका मिला था. वाका की विकेट विश्व की  सबसे तेज, उछाल वाली पिचों में से एक है, जोकि तेज गेंदबाजों की मददगार मानी जाती हैं. स्टेडियम में  24,000 सीट सीमित क्षमता होने के कारण क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पर्थ में एक नए स्टेडियम के निर्माण का समर्थन किया था.

Related posts