डोपिंग के डंक के कारण न्यूजीलैंड के इस क्रिकेटर पर लगा दो साल का प्रतिबंध | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

डोपिंग के डंक के कारण न्यूजीलैंड के इस क्रिकेटर पर लगा दो साल का प्रतिबंध 

डोपिंग के डंक के कारण न्यूजीलैंड के इस क्रिकेटर पर लगा दो साल का प्रतिबंध

क्रिकेट में मैच फिक्सिंग का साया आए दिन क्रिकेटरों के मन को खींच लेता है। मैच फिक्सिंग के साथ-साथ क्रिकेट इतिहास में खिलाड़ियों को डोपिंग की भी ऐसी लत लग जाती है, जिसके डंक से वो बच नहीं पाते है। विश्व क्रिकेट मैच फिक्सिंग के जिन्न के साथ-साथ डोपिंग का डंक भी झेल रहा है। खेलों में खिलाड़ी कई बार नशे का डोज लेकर खेलते हुए पकड़े गए है।

डोपिंग के डंक के कारण न्यूजीलैंड के इस क्रिकेटर पर लगा दो साल का प्रतिबंध 1

इसी तरह का एक और मामला न्यूजीलैंड क्रिकेट में सामने आया है।न्यूजीलैंड के घरेलु क्रिकेट खिलाड़ी एडम किंग पर एनाबोलिक स्टेरॉयड और हार्मोन के उपयोग के लिए न्यूज़ीलैंड के स्पोर्ट्स ट्रिब्यूनल ने उन पर दो साल का प्रतिबंध दिया है।डोपिंग टेस्ट में फेल होने के बाद आईपीएल से बाहर होने वाले रसेल कुछ इस तरह बिता रहे है लाइफ

एडम किंग न्यूजीलैंड की घरेलु टीम पैरापारौमू क्रिकेट क्लब के लिए एक मध्यम तेज गेंदबाज के रूप में खेलते आ रहै हैं। एडम किंग को प्रतिबंधित पदार्थों का सेवन करने के लिए ड्रग फ्री स्पोर्ट एनजेड द्वारा आरोप लगाया गया था, जिसके बाद एडम किंग को प्रतिबंधित कर दिया है।

एडम किंग  2011 के बाद से पैरापारौमू क्रिकेट क्लब  के लिए खेले थे और 2013 और 2016 में न्यूजीलैंड के हॉक कप टूर्नामेंट में हॉरोहुआ-कपिटी की टीम का प्रतिनिधित्व किया था। क्रिकेट डॉट कॉम में एक रिपोर्ट के मुताबिक, डीएफएसएनजेड ने आरोप लगाया था कि चिकित्सा और चिकित्सा उपकरणों के नियामक मेडसाफ द्वारा आगाह करने के बाद भी एहम किंग ने 2015 में हार्मोन और 2014 में  नशीले पदार्थ नंड्रोलोन और टेस्टोस्टेरोन का उपयोग किया। आंद्रे रसेल ने किया डोपिंग टेस्ट पॉजिटिव होने पर अपील, क़ानूनी पेंच में फंसा यह दिग्गज

रिपोर्ट के अनुसार नशीले पदार्थ का सेवन करने वाले क्रिकेटर एडम किंग ने  इस खुलासे के बाद कहा था  कि, “मुझे  इसके सेवन के बाद बड़ा और अधिक मोस्क्युलर लग रहा था। कुल मिलाकर, इसके बाद ज्याद वजन बढ़ने से मेरे घुटनों में तेजी आ गई थी।  टेंनोटिटिस के नुकसान के कारण मेरे क्रिकेट पर हानिकारक असर पड़ रहा है।”

Related posts