न्यूज़ीलैण्ड बनाम बांग्लादेश: न्यूज़ीलैण्ड ने बांग्लादेश को 6 विकेट से हराया

Raju jadon / 03 January 2017

न्यूज़ीलैण्ड दौरे पर गयी बांग्लादेश टीम अभी तक 1 भी मैच नहीं जीत पायी है, पहले हुये 3 वन डे मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा, लेकिन उनका यह हार का सिलसिला टी-20 मैचों में भी बरकरार है.

यह भी पढ़े : 5 युवा भारतीय खिलाड़ी जो 2017 में कर सकते अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण

नैपियर में हुये पहले टी-20 मैच में बांग्लादेश ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला लिया और बल्लेबाज़ी की शुरुआत करने आये तमीम इक़बाल और इम्रुल कायेस की जोड़ी ज्यादा देर तक न्यूज़ीलैण्ड के गेंदबाजों के सामने नहीं टिक पायी और इम्रुल कायेस मैट हेनरी के दुसरे ओवर की तीसरी गेंद पर कीपर रौंकी के हाथो में कैच थमा बैठे. उसके बाद भी बांग्लादेश की टीम अपनी बल्लेबाज़ी में निरंतरता नहीं रख पायी और संकट में फंसी बांग्लादेश की टीम का एक समय पर स्कोर 30/4 हो गया. उसके बाद बांग्लादेश के अक्रामक बल्लेबाज़ म्ह्म्दुल्लाह ने अर्धशतक लगाकर अपनी टीम को एक सम्मान जनक स्कोर तक पहुँचाया. म्ह्म्दुल्लाह ने 47 गेंद पर 52 रन बनाये और बांग्लादेश की टीम का स्कोर 141/8 पहुँचाया. न्यूज़ीलैण्ड की तरफ से गेंदबाजी में सबसे अच्छा प्रदर्शन लौकी फर्गुसन का रहा, उन्होंने 4 ओवर में 3 विकेट लिए.

यह भी पढ़े : केपटाउन टेस्ट : एल्गर, डी कॉक ने दक्षिण अफ्रीका को संभाला

इस स्कोर का पीछा करने आई न्यूज़ीलैण्ड की टीम की तरफ से कप्तान केन विलियमसन और नील ब्रूम ओपनिंग करने आये, जिसमे नील ब्रूम कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और रूबेल हुसैन के तीसरे ओवर की तीसरी गेंद पर कैच थमा बैठे. उसके बाद बल्लेबाज़ी करने आये कोलिन मुनरो भी अगले ही ओवर में बिना कोई रन बनाये आउट हो गए. लेकिन दूसरी तरफ से अक्रामक रूप से बल्लेबाज़ी कर रहे कप्तान केन विलियमसन ने कोलिन डि ग्रांडहोम के साथ मिलकर बांग्लादेश से मैच को छीन लिया. केन विलियमसन ने 55 गेंद पर 73 रन बनाये और कोलिन डि ग्रांडहोम ने 22 गेंद पर 41 रन बनाये. बांग्लादेश की तरफ से रूबेल हुसैन ने सबसे ज्यादा रन दिये उन्होंने 4 ओवर में 43 रन देकर 1 विकेट लिया.

संक्षिप्त स्कोरकार्ड:-

बांग्लादेश इनिंग:- 141/8 , 20 ओवर्स (म्ह्म्दुल्लाह -52, लौकी फर्गुसन-3 विकेट, बेन व्हीलर-2 विकेट)

न्यूज़ीलैण्ड इनिंग:- 143/4 , 18 ओवर्स (विलियमसन-73, कोलिन डि ग्रांडहोम-41, मुस्ताफ़िजूर-1 विकेट).