नीतिश राणा ने बताया कि कैसे डिविलियर्स और कोहली को लगातार दो गेंद पर कर दिया आउट

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

एक ही ओवर में डीविलियर्स और कोहली को आउट करने के बाद पहली बार बोले नीतिश राणा, कहा… 

एक ही ओवर में डीविलियर्स और कोहली को आउट करने के बाद पहली बार बोले नीतिश राणा, कहा…

रविवार रात को कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच में मैच खेला गया जिसके कोलकाता ने  4 विकेट से जीत लिया। कोलकाता के लिए इस जीत के दो हीरो रहे। एक का नाम सुनिल नारायण तो दूसरे का नीतिश राणा। इन दोनों खिलाड़ी ने कोलकाता को जीत दिलाने में बड़ी भूमिका निभाई। सुनिल नारायण ने जहां 17 गेंदों में 50 रन बनाकर विपक्षी टीम की हार लगभग पक्की कर ही दी थी.

केकेआर के पहले मैच में छा गए नीतिश राणा

एक ही ओवर में डीविलियर्स और कोहली को आउट करने के बाद पहली बार बोले नीतिश राणा, कहा... 1

वहीं उसके बाद कप्तान दिनेश कार्तिक के साथ मिलकर नीतिश राणा ने टीम को जीत की दहलीज पर लाकर खड़ा कर दिया। नीतिश राणा ने मध्यक्रम बल्लेबाजी में तो मेहनत की ही लेकिन इससे पहले वो गेंदबाजी में भी एक बड़ा कमाल कर चुके थे। उन्होंने अपनी पहले ओवर में लगातार दो गेंदों में एबी डिविलियर्स और विराट कोहली को आउट करके मैच में बड़ा मूमेंटम ला दिया था।

अपने इस शानदार प्रदर्शन के बाद पढ़िए नीतिश राणा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या कहा:

एक ही ओवर में डीविलियर्स और कोहली को आउट करने के बाद पहली बार बोले नीतिश राणा, कहा... 2

1.  मेरे पास खोने के लिए कुछ भी नहीं था। जो भी था वो पाने के लिए ही था इसलिए मेरे ऊपर गेंदबाजी करते वक्त कोई दबाव नहीं था।

2.  मैंने पहले पियुष भैया और सुनिल नारायण को बॉल डालते हुए देखा, तो वहां बॉल ग्रिप कर रहा था इसलिए मेरा पास मौका था। मुझे पता था कि अगर मैंं सही जगह पर गेंद डालूंगा तो मैं आउट कर सकता हूं।

3.  अपने आप पर मैंने भरोसा रखा और सौभाग्यलश दोनों बड़े खिलाड़ियों को आउट किया।

4.  उस स्टेज पर उन दोनों बल्लेबाज (डिविलियर्स और विराट) को आउट करने टीम के लिए बहुत फायदेमंद रहा और मेरे लिए काफी अच्छा अनुभव रहा।

5.  मैन ऑफ द मैच की दावेदारी पर नीतिश ने कहा कि, मैं मैन ऑफ द मैच के लिए नहीं खेलता, मुझे गेम खत्म करने आना चाहिए था लेकिन वो मैं नहीं कर पाया। आगे से मैं इस चीज का ध्यान रखूंगा। मैं अपने टीम के लिए क्या और कितना कर सकता हूं, वो ज्यादा महत्वपूर्ण है।

6.  मैंने घरेलू क्रिकेट में दिल्ली के लिए गेंदबाजी की है और कोलकाता के प्रैक्टिस कैम्प में भी मैंने गेंदबाजी अभ्यास किया था।

7.  दिनेश भाई ने मुझे कहा था कि, गेंदबाजी के लिए तैयार रहने, पूरे टूर्नामेंट के मैचों में बीच-बीच में एक-दो ओवर गेंदबाजी करनी पड़ सकती है।

8.  पिछले साल मैंने काफी अच्छी बल्लेबाजी की इसलिए इस बार फ्रेंचाइजी और दर्शकों को भी मुझसे ज्यादा उम्मीदें हो गई है। इससे मेरे ऊपर दबाव है लेकिन वो मेरे लिए ठीक है। जब मेरे ऊपर कोई दबाव होता है तब मैं अच्छा प्रदर्शन करता हूं।

Related posts

Leave a Reply