न्यूजीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ ट्रेंट बोल्ट ने फैंस से मांगी माफी, कहा नहीं भुला पा रहे वो मैच

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

न्यूजीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ ट्रेंट बोल्ट ने खुद को माना विश्व कप हार का जिम्मेदार, गिनाई अपनी गलतियाँ 

न्यूजीलैंड के तेज़ गेंदबाज़ ट्रेंट बोल्ट ने खुद को माना विश्व कप हार का जिम्मेदार, गिनाई अपनी गलतियाँ

14 जुलाई को हुए वर्ल्ड कप फाइनल मुकाबले में अधिक बाउंड्री लगाने के आधार पर इंग्लैंड ने अपना पहला वर्ल्ड कप जीत लिया। इस बात में कोई दोराय नहीं है कि न्यूजीलैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन किया।

अपनी हार को सहन करना न्यूजीलैंड के लिए आसान नहीं है क्योंकि उनका हर प्रयास इंग्लैंड के बराबर ही रहा लेकिन बाउंड्री कम होने के कारण वह वर्ल्ड कप ट्रॉफी से हाथ धो बैठे। न्यूजीलैंड क तेज़ गेंदबाज़ ट्रेंट बोल्ट ने अपने फैंस से माफी मांगी है।

बोल्ट ने की थी अहम ओवरों में गेंदबाजी

बोल्ट जिन्होंने फाइल मुकाबले में 50 ओवर में अंतिम ओर और सुपर ओर में गेंदबाजी की। सुपर ओवर में इंग्लैंड ने 15 रन बना लिए। साथ ही इस मैच में फिल्म लगान वाला दृश्य भी बोल्ट द्वारा कैच लेते हुए देखा गया। उन्होंने कैच तो लपका लेकिन वह बाउंड्री लाइन पर पहुंच गए थे।

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज, जो 17 विकेटों के साथ टूर्नामेंट में प्रमुख विकेट लेने वालों में शामिल हैं, उन्होंने स्वीकार किया कि यह कुछ समय के लिए खिलाड़ियों को अंतिम परिणाम से अधिक तकलीफ देने वाला हो जाएगा।

उस मैच से नहीं उबर पा रहे ट्रेंट बोल्ट

हम हार के बाद अपने घर वापस आ चुके हैं। हम चाहते हैं कि इस हार से बाहर निकल जाए लेकिन हम ऐसा नहीं कर पा रहे। शायद लंबे वक्त तक हमें काफी वक्त लगने वाला है इससे बाहर निकलने में।

बोल्ट ने कहा

अंतिम ओवर में मार्टिन गुप्टिल के एक थ्रो के बाद विवादित 6 रन बने। जिसमें गेंद बेन स्टोक्स के बल्ले से लगकर चौके के लिए चली गई थी। उसके बाद सुपर ओवर में भी बेन स्टोक्स ने अच्छा प्रदर्शन किया।

बोल्ट ने आगे कहा

 

छोटी-छोटी परिस्थितियां जो उस दिन हमारे साथ नहीं थी यदि उन परिस्थितियों को हमने संभाला होता तो यकीनन रिजल्ट कुछ और होता। सुपर  ओवर में गेंदबाजी करते हुए मेरे दिमाग में काफी कुछ चल रहा था और वक्त मेरी बॉल पर छक्का लगा, जो शायद इससे पहले कभी भी नहीं हुआ है।

स्टोक्स के कैच पर बोल्ट ने व्यक्त किए भाव

स्टोक्स के कैच के बारे में बात करते हुए बोल्ट ने कहा, कि जब मैं वह कैच लेने के लिए भाग रहा था तो गप्टिल ने मुझे चेतावनी दी की बाउंड्री लाइन पास है। लेकिन उस स्थिति में मेरी प्राथमिकता कैच को किसी भी तरह कैच करने की थी।

हां, मैंने कैच लिया लेकिन बाउंड्री लाइन के पार। जिससे इंग्लैंड को 6 रन मिल गए। यह कैच कुछ-कुछ वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रेथवेट के कैच जैसा था, लेकिन उस वक्त मैंने कैच बाउंड्री के पहले ही लपक लिया था।

Related posts