तो क्या बीसीसीआई कर रही है धोनी को वनडे टीम से हटाने की तैयारी

बांग्लादेश में टीम इंडिया की बड़ी हार के बाद लगातार उठ रहे धोनी की कप्तानी पर सवालों से ये साफ हो गया है कि टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान धोनी का मुश्किलों भरा दौर अब शुरू हो गया है. घटते वक्ट से ये साफ हो रहा है कि कप्तान धोनी अब अपने पद से जल्द ही रूखसती ले सकते हैं.

एक प्रसिद्ध न्यूज़ चैनल से बातचीत करते हुए बीसीसीआई के एक करीबी सूत्र ने बताया कि कप्तान धोनी की वनडे से विदाई अब बहुत दूर नहीं है. बोर्ड में कप्तान धोनी का रूतबा भी अब कम जा रहा है. इन सबके पीछे का मुख्य कारण बीते कुछ समय से टीम इंडिया का खराब प्रदर्शन और बोर्ड प्रमुख के पद से श्रीनिवासन की विदाई और डालमिया की एंट्री को भी माना जा रहा है.

जगमोहन डालमिया के बीसीसीआई प्रमुख बनने से पहले श्रीनिवासन के कार्यकाल में धोनी अपनी पसंद की टीम ही चुना करता थे. किसी भी छोटे या बड़े दौरे पर टीम सेलेक्शन में कप्तान धोनी की सबसे ज्यादा चलती थी क्योंकि वो अपनी चुनी हुई टीम से टीम को लगातार जीत दिलाते रहे थे.

कप्तान धोनी की कप्तानी में देश ने क्रिकेट विश्वकप 2011 जीता, वर्ल्ड टी-20 खिताब जीता, चैंपियंस ट्रॉफी जैसे बड़े टूर्नामेंट अपने नाम किए, वनडे और टेस्ट में नंबर वन भी रहे.

लेकिन श्रीनिवासन की विदाई और डालमिया के आने के साथ ही धोनी का कद और टीम सलेक्शन में उनकी भूमिका कम हो गई है. हाल ही में ज़िम्बाबवे दौरे के लिए हुए टीम चयन में अधिकांश सभी सीनियर खिलाड़ियों को बाहर रखा गया. जिसके लिए बोर्ड ने कहा कि इन सभी को आराम दिया गया है.

लेकिन टीम की घोषणा करते समय संदीप पाटिल ने टीम के कई खिलाड़ियों को आराम देने की बात तो कही लेकिन उन्होनें रविंद्र जडेजा के टीम में नहीं होने का कारण आराम नहीं बल्कि खराब फॉर्म के कारण बाहर किया जाना बताया.जडेजा को धोनी का करीबी माना जाता रहा है. जडेजा, धोनी की अगुवाई में चेन्नई टीम का भी हिस्सा हैं. वहीं बेहद खराब फॉर्म के बावजूद धोनी का भरोसा जडेजा पर बना हुआ था और वो उन्हें प्लेइंग इलेवन में भी अकसर रखते थे.

 बोर्ड के इन सभी फैसलों से ये साफ संकेत मिल रहे हैं कि बोर्ड अब धोनी को किनारे कर एक नए कप्तान को टीम इंडिया की ज़िम्मेदारी देने पर विचार कर रहा है. लेकिन बोर्ड अभी भी विराट कोहली को वनडे कप्तानी देने के लिए पूरी तरह से कॉंफिडेंट नहीं है.

 जिस वजह से धोनी अभी कुछ समय और कप्तान रह सकते हैं. लेकिन अब शॉर्ट फॉर्मेट से भी धोनी की विदाई तय मानी जा रही है. 

Related Topics