‘यो-यो’ टेस्ट के बाद भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए पास करना होगा नेक्सा टेस्ट, जाने क्या है नेक्सा टेस्ट? | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

‘यो-यो’ टेस्ट के बाद भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए पास करना होगा नेक्सा टेस्ट, जाने क्या है नेक्सा टेस्ट? 

‘यो-यो’ टेस्ट के बाद भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए पास करना होगा नेक्सा टेस्ट, जाने क्या है नेक्सा टेस्ट?

टीम इंडिया का हालिया प्रदर्शन काफी ज्यादा शानदार रहा है.टीम के इस अच्छे प्रदर्शन के पीछे टीम के खिलाड़ियों उनकी फिटनेस को काफी ज्यादा जोर दिया गया है. जिस वजह से खिलाड़ी लगतातर अच्छा प्रदर्शन कर पा रहें है. वही अब खिलाड़ियों को और ज्यादा फिट रखने के लिए बीसीसीआई ने एक और नए फिटनेस टेस्ट की घोषणा कर दी है. जिसके बाद अब खिलाड़ियों को टीम में जगह बनाने के लिए इस टेस्ट से हो कर गुजरना होगा.

अब खिलाड़ियों को गुजरना होगा इस टेस्ट से 

‘यो-यो’ टेस्ट के बाद भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए पास करना होगा नेक्सा टेस्ट, जाने क्या है नेक्सा टेस्ट? 1

अब खिलाड़ियों की बढ़ती उम्र और खराब फिटनेस उनके लिए मुश्किलें बढ़ा सकती है. ये टेस्ट उन प्लेयर्स के लिए मुसिबत बन सकता है जो इस समय खराब फिटनेस से जूझ रहे हैं. अब तक खिलाड़ियों की फिटनेस परखने के लिए यो-यो टेस्ट किया जाता रहा है. यो-यो टेस्ट की वजह से कई प्लेयर्स कारण कई बाहर भी हुए हैं. लेकिन वह इस फिटनेस टेस्ट के अलावा एक और टेस्ट खिलाड़ियों के सामने बड़ी चुनौती बनकर सामने आया है. इस फिटनेस टेस्ट का नाम ‘नेक्सा टेस्ट’.

जानिए क्या होता है इस टेस्ट में 

‘यो-यो’ टेस्ट के बाद भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए पास करना होगा नेक्सा टेस्ट, जाने क्या है नेक्सा टेस्ट? 2

नेक्सा टेस्ट 10 मिनट का होता है, जिसमें खिलाड़ियों  के बॉडी में फैट के बारें में जानकारी मिलती है. इसके अलावा मसल और फैट टिशू और खिलाड़ियों के दर्द झेलने की क्षमता के बारे में भी भी पता चलता है.

आप को जानकर हैरानी होगी ये टेस्ट वैसे तो फुटबॉल खेलने वाले खिलाड़ियों के लिए होता है. इस टेस्ट के दौरान  जिसका बोन मास कम हुआ या फैट ज्यादा हुआ, उसे टीम में जगह नहीं मिलेगी. इस नए टेस्ट का खुलासा का टीम इंडिया के पूर्व ट्रेनर रामजी श्रीनिवासन ने किया है. वहीँ अब 10 जून को महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना, हार्दिक पांड्या, रोहित शर्मा जैसे बड़े खिलाड़ी इस कठिन टेस्ट से गुजरेंगे.

अगर कोई भारतीय खिलाड़ी नेक्सा टेस्ट में फेल होकर टीम से बाहर होता है तो उसके जिम्मेदार खुद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली होंगे.

 

Related posts

Leave a Reply