दानिश कनेरिया और शोएब अख्तर द्वारा किये गए खुलासे पर, पीसीबी का आया ये बयान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

दानिश कनेरिया और शोएब अख्तर द्वारा किये गए खुलासे पर, पीसीबी ने लिया ये फैसला 

दानिश कनेरिया और शोएब अख्तर द्वारा किये गए खुलासे पर, पीसीबी ने लिया ये फैसला

आज भारत और पाकिस्तान दोनों की ही स्पोर्ट्स मीडिया में सिर्फ और सिर्फ दानिश कनेरिया ही छाएं हुए हैं. दरअसल, पाकिस्तानी चैनल पीटीवी के एक शो के दौरान शोएब अख्तर ने कहा था, कि हिन्दू होने की वजह से दानिश कनेरिया की टीम में इज्जत नहीं की जाती थी. पाकिस्तानी खिलाड़ी उनके साथ खाने से भी पीछे हटते थे.

दानिश कनेरिया ने कहा शोएब भाई सही बोल रहे

शोएब अख्तर

शोएब अख्तर के इस बयान को दानिश कनेरिया ने भी सही बताया हैं. उन्होंने शोएब अख्तर का शुक्रिया करते हुए कहा है कि मुझे ख़ुशी है, कि शोएब भाई ने बात को कहना का साहस किया है, क्योंकि मैं इस बात को कभी नहीं कह पाया था. बता दें, कि दानिश कनेरिया ने पाकिस्तान के लिए 61 टेस्ट मैचों में 261 विकेट व 18 वनडे मैच में कुल 15 विकेट हासिल किये हैं.

मामले में आया पीसीबी का बयान

दानिश कनेरिया और शोएब अख्तर द्वारा किये गए खुलासे पर, पीसीबी ने लिया ये फैसला 1

पकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के एक अधिकारी ने बयान जारी करते हुए कहा, “शोएब अख्तर और दानिश कनेरिया दोनों ही संन्यास ले चुके हैं और हमसे फिलहाल अनुबंधित नहीं है, इसलिए वे जो चाहे कर सकते हैं और जो चाहे कह सकते हैं,  यह उनके खुद के विचार हैं. उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट की पूरी व्यवस्था के खिलाफ नहीं बल्कि कुछ खिलाड़ियों के व्यवहार के बारे में आरोप लगाए हैं, इसलिए हमें नहीं लगता, कि इसमें बोर्ड को शामिल होना चाहिए.”

पीसीबी के अधिकारी ने आगे अपने बयान में कहा, “जब दानिश कनेरिया खेल रहा था, तब इंजमाम उल हक, राशिद लतीफ, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ पाकिस्तान के कप्तान रहे थे, इसलिए शोएब अख्तर और दानिश कनेरिया ने जो कुछ भी कहा है. इस पर उन्ही खिलाड़ियों को जवाब देना चाहिए.”

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गजों ने की निंदा

दानिश कनेरिया और शोएब अख्तर द्वारा किये गए खुलासे पर, पीसीबी ने लिया ये फैसला 2

साथ ही पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज मोहसिन खान ने अपने एक बयान में कहा, “एक खिलाड़ी का आंकलन उसके धर्म, रंग या जाति से नहीं बल्कि उसके क्रिकेट कौशल और टीम के प्रति समर्पण से किया जाना चाहिए.”

वहीं पाकिस्तान के एक और पूर्व क्रिकेटर इकबाल कासिम ने इस मामले की निंदा करते हुए कहा, “अगर कुछ खिलाड़ियों ने अपने धर्म की वजह से केवल कनेरिया के साथ दुर्व्यवहार किया है, तो यह बहुत दुखद है.”

Related posts