सरफराज चले थे धोनी बनने, छक्का खा उड़वा बैठे सोशल मीडिया पर खिल्ली

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

सरफराज चले थे धोनी बनने, ग्लव्स उतार दुसरे को पकड़ाया फिर हुआ कुछ ऐसा हो रही जग हंसाई 

सरफराज चले थे धोनी बनने, ग्लव्स उतार दुसरे को पकड़ाया फिर हुआ कुछ ऐसा हो रही जग हंसाई

आखिरी वनडे मैच में जिम्बाब्वे को 131 रनों से हराकर पाकिस्तान ने सीरीज क्लीन स्वीप कर ली. इस पूरी सीरीज के दौरान पाकिस्तान की गेंदबाजी और बल्लेबाजी देखने काबिल रही. पाकिस्तान के धाकड़ ओपनर बल्लेबाज फखर जमान ने वनडे इंटरनेशनल में अपने 1000 रन भी पूरे कर लिए. वे सबसे तेज (18 पारी) 1000 रन बनाने बल्लेबाज बन गए हैं.

हालांकि फखर जमान के रिकॉर्ड के अलावा पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान एक बेहद अलग वजह से चर्चा में हैं. आमतौर पर सरफराज अहमद को विकटों के पीछे ही अपना जलवा बिखेरते देखा गया है, लेकिन इस बार उन्होंने कुछ और करने की ठानी और खुद का ही मजाक बना बैठे.

दरअसल, आखिरी वनडे में जिम्बाब्वे अपनी आखिरी पारी खेल रही थी. इस पारी के 48वें ओवर से पहले ये तय हो गया था कि पाकिस्तान यह मैच आसानी से जीत जाएगी, क्योंकि 100 रन से ज्यादा रन कोई भी जादू टोना दो ओवर में नहीं ठोक सकता. हुआ भी यही क्योंकि मैच 131 रन से पाकिस्तान ने जीत लिया.

इस बीच कप्तान सरफराज़ अहमद हमेशा की तरह विकेटकीपिंग कर रहे थे, लेकिन एकाएक वह अपने विकेटकीपिंग गलव्स और पैड्स हटाने लगे और गेंदबाजी करने के लिए गेंद अपने हाथ में थाम ली. इसके बाद जो हुआ वो बहुत ही चौंकाने वाला रहा. इस दौरान विकेटकीपिंग फखर ज़मान ने की.

धोनी, गिलक्रिस्ट और बाउचर भी कर चुके हैं गेंदबाजी
यह पहला मौका नहीं किसी विकेटकीपर ने गेंदबाजी की हो, बल्कि भारत के एमएस धोनी, ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट और द. अफ्रीका के मार्क बाउचर भी पूर्व में गेंदबाजी कर चुके हैं.

धोनी ने साल 2009 में वेस्टइंडीज के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में 2 ओवर की गेंदबाजी की थी और 1 विकेट झटका था. वहीं एडम गिलक्रिस्ट ने साल 2013 आईपीएल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेले गए मैच में गेंदबाजी की थी और पहली गेंद पर विकेट झटका था

Related posts

प्रातिक्रिया दे