आईपीएल ना खेलने से हुआ पाकिस्तान टी-ट्वेंटी क्रिकेट को हुआ नुकसान: मिकी ऑर्थर

Gautam / 19 May 2016

हाल में ही पाकिस्तान टीम के कोच नियुक्त किये गए दक्षिण-अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर मिकी आर्थर का कहना है कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों का इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का हिस्सा ना होने से पाकिस्तान टीम के टी-ट्वेंटी प्रदर्शन पर असर पड़ा हैं. भारत में हुए टी-ट्वेंटी विश्वकप में पाकिस्तान के ख़राब प्रदर्शन के बाद पाकिस्तान के कोच वकार यूनिस और कप्तान शाहिद अफरीदी को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने बर्खास्त कर दिया था, वकार यूनिस के स्थान पर दक्षिण-अफ्रीका के मिकी आर्थर को पाकिस्तान क्रिकेट टीम नया कोच नियुक्त किया गया हैं, तो अफरीदी की जगह सरफराज खान नये कप्तान बने है.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी स्टुअर्ट लॉ और पीटर मूर्स ने पाकिस्तान कोच बनने से इनकार कर दिया था उसके बाद मिकी आर्थर को कोच नियुक्त किया गया.

48 वर्ष के आर्थर का कहना है कि “हम फ्रेंचाईजी क्रिकेट प्रतियोगिता से बहुत कुछ सीखते हैं, और मुझे लगता है इसकी अहम भूमिका होती है. हाँ, यह हो सकता है कि आईपीएल में ना खेलने से पाकिस्तान टीम टी-ट्वेंटी में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही हो”.

आईपीएल में पहले संस्करण 2008 में पाकिस्तानी खिलाड़ी सभी 8 टीमो में अहम भूमिका में थे, उसी वर्ष 2008 मुंबई हमले के बाद से, पाकिस्तान-भारत के बीच राजनितिक तनाव के कारण पाकिस्तानी खिलाड़ी दोबारा आईपीएल के हिस्सा नहीं बन सके.

वर्ष 2010 में दोबारा पाकिस्तानी खिलाड़ियों को नीलामी में रखा गया लेकिन किसी भी फ्रंचाईजी ने पाकिस्तानी खिलाड़ियों में कोई रूचि नहीं दिखाई, जबकि पाकिस्तानी कोच और अंपायर नियमित रूप से आईपीएल के हिस्सा रहे हैं.

पाकिस्तान की टीम 2009 टी-ट्वेंटी विश्वकप की विजेता रही थी, लेकिन इसी वर्ष भारत में हुए छठे टी-ट्वेंटी विश्वकप में पाकिस्तान की टीम नाकआउट स्टेज से बाहर हो गयी थी, साथी ही भारत के विरुद्ध भी पाकिस्तान को एक बड़ी हार झेलनी पड़ी थी.

बांग्लादेश में हुए एशिया कप टी-ट्वेंटी 2016 के दौरान भी पाकिस्तान टीम ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया था, एशिया कप में पाकिस्तान की टीम बांग्लादेश से भी मैच नहीं जीत सकी थी.

Related Topics