BCCI से पाकिस्तान क्रिकेट ने मांगे 500 करोड़ रुपये ,जानिए क्या है वजह?

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

BCCI से पाकिस्तान क्रिकेट ने मांगे 500 करोड़ रुपये, जानिए क्या है वजह? 

BCCI से पाकिस्तान क्रिकेट ने मांगे 500 करोड़ रुपये, जानिए क्या है वजह?
BCCI

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी ( BCCI) से 500 करोड़ रुपये मुआवजे की मांग की है. गौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का कहना है कि, बीसीसीआई के साथ साल 2014 में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए थे, जिसके तहत छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने पर सहमति बनी थी. जिसमे खुद पाकिस्तान की मेजबानी में घरेलू सीरीज भी शामिल थी.
BCCI
BCCI

भारत केवल आईसीसी और अन्य मल्टीनेशन टूर्नामेंटों में पाकिस्तान के साथ खेलता है

बता दें, भारतीय क्रिकेट टीम ने 2008 से अब तक पाकिस्तान के साथ उनकी मेजबानी में कोई  द्विपक्षीय सीरीज  नहीं खेली है. भारत केवल आईसीसी और अन्य मल्टीनेशन टूर्नामेंटों में वह पाकिस्तान के साथ खेलता है. बीसीसीआई के टीम नहीं भेजने से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारत के खिलाफ आईसीसी का दरवाजा खटखटाया

अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भारत के खिलाफ आईसीसी का दरवाजा खटखटाया है और उसने बीसीसीआई से 500 करोड़ रुपए मुआवजे देने की मांग की है. इस मामले की सुनवाई सोमवार 1 अक्टूबर से दुबई में शुरु होगी.
इस मामले में राजीव शुक्ला ने कहा है कि बीसीसीआई को पीसीबी के साथ क्रिकेट में कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन कुछ मुद्दे हैं, जिन्हें सरकार के स्तर पर सुलझाना पड़ेगा.

‘बीसीसीआई और पाकिस्तान क्रिकेट के अपने मसले को खुद सुलझाने चाहिए’

पत्रकारों से बात करते हुए राजीव शुक्ला ने कहा, ‘जहां तक मेरी राय है तो बीसीसीआई और पीसीबी को अपने मसले खुद सुलझाने चाहिए न कि उन्हें आईसीसी के पास ले जाना चाहिए. बीसीसीआई तो पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलना चाहता है, लेकिन कुछ मुद्दे हैं और इसलिए बीसीसीआई को पाकिस्तान जाकर क्रिकेट खेलने के लिए सरकार की अनुमति चाहिए.’
राजीव शुक्ला ने आगे कहा, ‘भारत ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट या एशियाई क्रिकेट काउंसिल के टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ खेलने से कभी इनकार नहीं किया है, इसलिए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को पैसा देने का कोई सवाल नहीं उठता है.’

‘पाकिस्तान को एक पैसा भारत नहीं देगा’

इस मुद्दे पर BCCI के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने कहा, ‘यह भारत और पाकिस्तान के बीच एक द्विपक्षीय मामला है, इसमें आईसीसी क्या कर रहा है? आईसीसी हमें खेलने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है और बीसीसीआई पर कोई दबाव अंतरराष्ट्रीय संकट का कारण बन सकता है.’
ठाकुर ने कहा, ‘पाकिस्तान को एक पैसा भारत नहीं देगा. ठाकुर ने कहा कि पहले पाकिस्तान आतंकवाद का खात्मा करे तब उसके साथ क्रिकेट खेलने पर सोचा जा सकता है.’
बता दें, अभी हाल ही में हुए एशिया कप में भारत और पाकिस्तान की दो बार भिडंत हुई. दोनों मुकाबलों में पाकिस्तान को हार का सामना करना पड़ा.

Related posts

Leave a Reply