पीसीबी ने कौड़ियो के दाम बेचे जर्सी के स्पोंसर राइट्स, देखें कितने पैसे मिले 1

क्रिकेट जगत की तमाम बोर्ड के लिए कोरोना काल ने एक बड़ा आर्थिक संकट पैदा कर दिया है। कोरोना के कारण पिछले कुछ महीनों से किसी भी तरह की क्रिकेट नहीं खेली जा रही थी जिस कारण से सभी क्रिकेट बोर्ड कोई कमाई नहीं कर पा रहे हैं। इससे बोर्ड के बीच आर्थिक संकट साफ तौर पर नजर आ रहा है जिसमें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की हालात भी खस्ता है।

पाकिस्तान की टीम की जर्सी को मिला स्पोन्सर

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड इस वित्तीय समस्या से तो जूझ रही है इसी बीच उनकी टीम की जर्सी का स्पोन्सरशिप का मामला भी उनके लिए घाटे का सौदा साबित हो रहा है। पाकिस्तान की टीम को लंबे समय से स्पोन्सर करने वाली पेप्सी का करार खत्म हो गया है।

पीसीबी ने कौड़ियो के दाम बेचे जर्सी के स्पोंसर राइट्स, देखें कितने पैसे मिले 2

पेप्सी इसके बाद पाकिस्तान की टीम की जर्सी को स्पोन्सर करने को लेकर आगे नहीं बढ़ता चाहती है जिस कारण से पीसीबी किसी तरह से एक नए स्पोन्सर की तलाश कर रही थी।

बहुत कम लागत में हुआ करार, ट्रांसमीडिया कंपनी से 1 साल तक के लिए हुआ करार

पीसीबी ने अपनी क्रिकेट टीम की जर्सी के लिए स्पोन्सर कंपनी की तलाश तो कर ली लेकिन इसमें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को उम्मीद के अनुसार भारी भरकम लागन नहीं मिल सकी और एक बहुत ही कम लागत में ट्रांसमीडिया के साथ करार किया है।

पीसीबी ने कौड़ियो के दाम बेचे जर्सी के स्पोंसर राइट्स, देखें कितने पैसे मिले 3

पीसीबी ने कौड़ियो के दाम बेचे जर्सी के स्पोंसर राइट्स, देखें कितने पैसे मिले 4

पीसीबी के एक विश्वसनीय सूत्रों की माने तो उनकी तरफ से कहा जा रहा है कि पीसीबी ने ट्रांसमीडिया के साथ एक साल के अनुबंध पर हस्ताक्षर करने का फैसला किया है। ये कंपनी पीसीबी में विभिन्न प्रायोजन और मीडिया अधिकार खरीद रही है। ट्रांसमीडिया प्रायोजक के रूप में पीसीबी को पहले से ही 15 करोड़ रुपये सालाना का भुगतान कर रही है।

ट्रांस मीडिया कंपनी के साथ ही शाहिद अफरीदी के फाउंडेशन का भी रहेगा लोगो

तो वहीं अब पाकिस्तान की जर्सी को स्पोन्सर करने के लिए ट्रांस मीडिया कंपनी तीन साल के लिए 60 करोड़ रुपये देगी। यानि पीसीबी को सालभर में ट्रांस मीडिया अपना लोगो मुख्य लोगो के रूप में लगाने के लिए 20 करोड़ रुपये का भुगतान करेगा। जिसका अनुबंध पर हस्ताक्षर हो चुके हैं।

पीसीबी ने कौड़ियो के दाम बेचे जर्सी के स्पोंसर राइट्स, देखें कितने पैसे मिले 5

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पेप्सी के साथ 3 साल के 91 करोड़ रुपये के करार के खत्म होने के बाद करार को पीसीबी बढ़ाना तो चाहता था लेकिन पेप्सी कंपनी पिछले करार का 30 प्रतिशत ही देना चाहता था। कोरोना के कारण बाकी कंपनियों से भी अच्छा रेसपोंस नहीं मिला जिसका बाद उन्हें ट्रांसमीडिया के साथ करार करना पड़ा। पाकिस्तान की नई जर्सी पर अब ट्रांसमीडिया के मुख्य लोगो के साथ ही शाहिद अफरीदी के फाउंडेशन का भी लोगो रहेगा।