भारतीय फैंस के लिए बुरी खबर, 5 आईसीसी इवेंट्स आयोजित करने के लिए पाकिस्तानी ने लगाईं बोली 1
Pakistan cricketer Usman Khan (C) celebrates with teammates after he dismissed Hong Kong batsmans Scott McKechnie during the one day international (ODI) Asia Cup cricket match between Hong Kong and Pakistan at the Dubai International Cricket Stadium in Dubai on September 16, 2018. (Photo by ISHARA S. KODIKARA / AFP) (Photo credit should read ISHARA S. KODIKARA/AFP/Getty Images)

2009 में लाहौर में श्रीलंकाई टीम पर हुए आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान में दशकों तक क्रिकेट खेलने कोई टीम नहीं गई. मगर अब पाकिस्तान में धीरे-धीरे क्रिकेट बहाल हो रहा है. जिम्बाब्वे और दक्षिण अफ्रीका की मेजबानी करने के बाद अब पाकिस्तान साल के अंत में इंग्लैंड की मेजबानी करेगी. खबर है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) 2024 से 2031 यानी 8 साल के भीतर ICC के पांच बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए दावा पेश करेगा. इसमें चैंपियंस ट्रॉफी और टी20 विश्व कप भी शामिल है. पाकिस्तान ने आखिरी बार 1996 में आईसीसी टूर्नामेंट की मेजबानी की थी.

पीसीबी आईसीसी से करेगा बड़ी डिमांड

पाकिस्तान

 

पाकिस्तान में धीरे-धीरे बहाल हो रहे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के मद्देनजर वहां के क्रिकेट बोर्ड ने एक बड़ा फैसला लेने की तैयारी कर ली है.पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB)से जुड़े सूत्र ने बताया कि बोर्ड आईसीसी टूर्नामेंट की मेजबानी हासिल करने के लिए बोली से जुड़े दस्तावेज जुटाने में लगा है. इन्हें जल्दी ही जमा करना है.

दरअसल, आईसीसी ने सदस्य देशों से 8 साल के फ्यूचर टूर प्रोग्राम के लिए एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट(EOI) मंगाया गया है. सभी क्रिकेट बोर्ड की तरफ से बोली आने के बाद आईसीसी की एक स्वतंत्र कमेटी इस साल दिसंबर में बोलियों का आकलन करेगी और अगले साल इस पर होने वाले फैसले के लिए रिपोर्ट सौंपेगी.

पाकिस्तान में हई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई

पाकिस्तान

सूत्र ने कहा कि पाकिस्तान पहले ही कुछ आईसीसी टूर्नामेंट की संयुक्त रूप से मेजबानी करने के लिए अमीरात क्रिकेट बोर्ड के साथ बातचीत कर चुका है. बता दें कि 10 साल बाद 2019 में पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई है.

2009 में पाकिस्तान दौरे पर गई श्रीलंकाई टीम पर आतंकी हमला हुआ था, इसके बाद बाद से सुरक्षा से जुड़ी चिंताओं के कारण शीर्ष टीमों ने पाकिस्तान का दौरा करने से इनकार कर दिया था. सुरक्षा करणों से पाकिस्तान को 2009 के चैम्पियंस ट्राफी और 2011 के विश्व कप की मेजबानी से हाथ धोना पड़ा था.

इस साल न्यूजीलैंड और इंग्लैंड का पाकिस्तान दौरा प्रस्तावित 

पाकिस्तान

सूत्र ने आगे कहा कि अब स्थिति अलग है और टीमें पाकिस्तान का दौरा करने को तैयार हैं और फिर से देश में टेस्ट मैच शुरू हो गए हैं. न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज इस साल दौरे के लिए तैयार हैं, इसलिए चीजें अब बेहतर स्थिति में हैं.

पाकिस्तान को बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी आईसीसी देगा या नहीं ये तो वक्त बताएगा, लेकिन भारत इस मामले में रोड़ा अटका सकता है. इसलिए पाकिस्तान की राह बिल्कुल भी आसान नहीं होगी. गौरतलब है कि मुंबई में साल 2008 में हुए आतंकी हमलों के बाद दोनों देशों के बीच क्रिकेट बुरी तरह से प्रभावित हुआ है.