/

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने लंदन एयरपोर्ट पर हिरासत में लेने वाले दावों को किया सिरे से खारिज

pc: google

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर का अबतक का क्रिकेट करियर बड़ा ही नाटकीय रहा है। पाकिस्तान की टीम में मोहम्मद आमिर ने अपने करियर की शुरूआत बडे ही जबरदस्त अंदाज में की और उन्होनें अपनी गेंदबाजी से विश्व क्रिकेट का ध्यान अपनी ओर खिंचा, लेकिन 2010 में इंग्लैंड दौरे पर मोहम्मद आमिर का ब्रेन फेड हो गया। इस दौरे पर एक टेस्ट मैच के दौरान पाकिस्तान के सबसे तेजी से इस तेज गेंदबाज ने कुछ पैसों के लालच में अपने क्रिकेट को बेच दिया। अपने कप्तान सलमान बट्ट के साथ मिलकर स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त होकर क्रिकेट को कलंकित कर दिया।ऑस्ट्रेलिया बनाम पकिस्तान : ख़राब फील्डिंग करने पर फील्डरों पर भड़के मोहम्मद आमिर, दी भद्दी गाली

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

मैच फिक्सिंग की जांच के बाद आरोप साबित होने पर आमिर को 5 साल के लिए क्रिकेट से प्रतिबंध लगा दिया। प्रतिबंध पूरा होने के बाद हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट मैं वापसी करने वाले  पाकिस्तान के तेज गेंबाज मोहम्मद आमीर ने गुरुवार को लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर इमिग्रेशन अधिकारियों द्वारा संक्षिप्त रूप से हिरासत के सभी दावों को खारिज कर दिया। रिपोर्टों के अनुसार, स्पॉट फिक्सिंग से जुड़े अधिकारियों द्वारा 30 मिनट की पूछताछ के बाद आमिर को जाने की इजाजत दी गई थी।

मोहम्मद आमिर दुबई से अपनी पत्नी के साथ लंदन हवाई अड्डे पर पहुंचे। जिसके बाद आमिर ने मीडिया  को बुलाकर इस तरह की रिपोर्टों को खारिज कर दिया। अमीर ने कहा कि किया, “ये सभी आरोप झूठे है जिसमें कहा जा रहा कि मुझे लंदन हवाई अड्डे पर स्पॉट फिक्सिंग मामले में पूछताछ कर हिरासत में लिया गया। “मोहम्मद आमिर की इस घातक गेंदबाज़ी को देख हक्के भक्के रह गये वार्नर और स्मिथ, देखे विडियो

2010 में स्पॉट फिक्सिंग घोटाले के लिए मोहम्मद आमिर, टीम के उस समय के कप्तान सलमान बट और मोहम्मद आसिफ के उपर प्रतिबंध लगा दिया गया था। 2015 के अगस्त में, उन्हें सितंबर 2015 से सभी प्रकार के क्रिकेट खेलने के लिए स्वतंत्र घोषित किया गया था। जनवरी 2016 में, न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्वेंटी 20 मैच में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की। उन्होंने हाल ही में हुई पाकिस्तान सुपर लीग में कराची किंग्स की टीम की ओर से खेलते हुए हैट-ट्रिक ली।