जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 1

भारतीय घरेलु क्रिकेट में साल 2014 की शुरुआत तक जम्मू-कश्मीर की टीम के नाम कोई विशेष उपलब्धि नहीं थी। जम्मू-कश्मीर की टीम घरेलु क्रिकेट के हर टूर्नामेंट में भाग लेती थी, लेकिन सिर्फ और सिर्फ बिना किसी प्रभावशाली प्रदर्शन के अपना सफर पूरा करती थी। जम्मू-कश्मीर में इसी साल दो घटनाएं ऐतिहासिक बन गई।

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 2

जम्मू-कश्मीर ने साल 2014 में हासिल की दो बड़ी उपलब्धियां

साल 2014 में 6 महीनों के भीतर की जम्मू-कश्मीर क्रिकेट के लिए दो यादें उनके क्रिकेट इतिहास की कभी ना भूलने वाली घटनाएं साबित हुई। पहला तो जम्मू-कश्मीर के प्रतिभाशाली खिलाड़ी परवेज रसूल ने भारतीय क्रिकेट टीम के लिए अपना डेब्यू किया जो उनके राज्य से भारतीय क्रिकेट का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले क्रिकेटर बनें। उसके बाद इसी साल उन्होंने रणजी की सबसे सफलतम टीम मुंबई को हराने में कामयाबी हासिल की।

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 3

परवेज रसूल बने जम्मू-कश्मीर से भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले खिलाड़ी

जम्मू-कश्मीर की क्रिकेट में परवेज रसूल ने वो मुकाम हासिल किया जो उनके इतिहास में कोई हासिल नहीं कर सका था। परवेज रसूल को ढाका में बाग्लादेश के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू का मौका मिला। वहीं परवेज रसूल एक बार फिर से रणजी के आने वाले सीजन के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। लेकिन वो अपने ऐतिहासिक मौका मुंबई को हराने के बाद के जम्मू-कश्मीर के प्रदर्शन से खुश नहीं हैं।

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 4

परवेज रसूल उसके बाद की तैयारी पर नहीं थे खुश

परवेज रसूल ने कहा कि “मैंने सोचा था कि जब मैं भारत के लिए खेला उसके बाद जम्मू-कश्मीर के लिए चीजें अच्छी होंगी और सुविधाओं में भी सुधार होगा। हमने उस दौरान मुंबई को मुंबई में ही हराया था लेकिन हमने उस चीज को आगे नहीं बढ़ाया। और कुछ हो नहीं सका। इसके पीछे तैयारी में कमी बड़ा कारण है।”

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 5

हमारी तैयारी नहीं रही थी अच्छी

परवेज रसूल ने पिछले साल राजस्थान के खिलाफ अपने रणजी मैच के लिए जयपुर पहुंचने को लेकर आगे कहा कि “पिछले साल हम जयपुर में रात को 11.30 पर पहुंचे। और हमारा पहला मैच उनके साथ अगले ही दिन था। इस तरह की चीजें निश्चित तौर पर आपकी खराब तैयारियों को उजागर करती  हैं।”

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 6

इस सीजन के लिए इरफान के साथ कर दी जून की ही तैयारी शुरू

इस साल रणजी सत्र को लिए जम्मू-कश्मीर की टीम से भारतीय टीम के स्टार ऑलराउंडर रहे इरफान पठान खिलाड़ी और मेंटर के तौर पर जुड़े हैं। ऐसे में परवेज रसूल को भी इस बात से बहुत ही अच्छा लग रहा है। परवेज रसूल ने कहा कि “हमारे इतिहास में पहली बार उचित प्री सीजन है। हमने अपना केंप जून से ही शुरू कर दिया था। इरफान तब से हर समय हमारे साथ रहे हैं। हमने साथ ही जम्मू-कश्मीर में पहली बार बाहर की टीम(उत्तर प्रदेश) को यहां लाए और उनके साथ चार अभ्यास मैच खेले।”

“आखिर के 6 महीनों में हमारे लिए कई चीजों में सुधार हुआ है। मैं भी बहुत ही खुश हूं कि आखिरकार कुछ अच्छी चीजें हो रही हैं। कुछ नए खिलाड़ी आ रहे हैं और उनमें प्रतिभा भी नजर आ रही हैं। यहां पर अब क्रिकेट का एक अच्छा वातावरण तैयार हो रहा है।”

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 7

जहां मौका मिलेगा वहां करूंगा अच्छे प्रदर्शन की कोशिश

परवेज रसूल ने अपने प्रदर्शन को लेकर कहा कि “मैं अपने ध्यान पर केन्द्रित कर रहा हूं और यहां पर अपना काम कर रहा हूं। आईपीएल में नहीं खेलना निराशाजनक नहीं था लेकिन पिछले साल लाला अमरनाथ पुरस्कार जीता था और जहां भी मुझे मौका मिलता है मैं अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश कर रहा हूं।”

जम्मू-कश्मीर से भारत के लिए खेलने वाले एकमात्र खिलाड़ी परवेज रसूल ने जम्मू-कश्मीर की टीम को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया 8

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें।

Leave a comment