पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इन दो शीर्ष खिलाडियों को किया नजरअंदाज

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बाबर आजम ने कहा, पीसीबी अब नहीं चुनना चाहता इन 2 खिलाडियों को 

बाबर आजम ने कहा, पीसीबी अब नहीं चुनना चाहता इन 2 खिलाडियों को

पाकिस्तान क्रिकेट टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है. चीफ सिलेक्टर से लेकर कप्तान हर जगह बदलाव कर दिया गया है. अब इस टीम को अगल महीने की शुरुआत में 3 मैचों की टी 20 और 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाना है. इसके लिए मगंलवार को टीम का ऐलान हो गया है इस बीच बाबर आजम ने इन दो खिलाडियों को टीम में सम्मिलित होने की बात कही थी लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने इसके लिए मना किया है.

बाबर आजम ने इस किया खुलासा

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड

पाकिस्तान के नवनियुक्त टी 20 कप्तान बाबर आज़म ने खुलासा किया है कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टी 20 श्रृंखला के लिए टीम में कुछ वरिष्ठ खिलाड़ियों के लिए कहा था, लेकिन उनके अनुरोध को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ठुकरा दिया था. बाबर ने अपनी पहली प्रेस-कॉन्फ्रेंस पाकिस्तान के T20I कप्तान के रूप में पिछले सप्ताह टीम के ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले की।

टी 20 टीम में मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के बहिष्कार के बारे में बाबर से पूछा गया. उन्होंने खुलासा किया कि उन्होंने चयन के आगे अपनी बात रखी थी और कुछ वरिष्ठ खिलाड़ियों को टीम में सम्मिलित करने को लेकर उत्सुक थे. यह सामने आया है कि मुख्य कोच और मुख्य चयनकर्ता मिस्बाह-उल-हक ने भी बाबर के साथ हफीज के चयन पर सहमति व्यक्त की थी, लेकिन दोनों को कुछ पीसीबी अधिकारियों ने बल्लेबाजी ऑलराउंडर चुनने की सलाह दी थी.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पहले भी किया इन दोनों नजरअंदाज

बाबर आजम ने कहा, पीसीबी अब नहीं चुनना चाहता इन 2 खिलाडियों को 1

हाफ़िज़ और मलिक दोनों ही घर में श्रीलंका के खिलाफ पाकिस्तान की हाल ही में समाप्त हुई टी 20 सीरीज़ से चूक गए थे. मेजबान श्रीलंका की दूसरी टीम ने मिस्बाह के चयन पर सवाल उठाते हुए 3-0 से जीत दर्ज की, सरफराज अहमद को बाद में टेस्ट और टी 20 कप्तान के रूप में हटा दिया गया.
यह पूछे जाने पर कि क्या टी 20 आई टीम चुने जाने से पहले टीम प्रबंधन और चयनकर्ताओं द्वारा उनसे सलाह ली गई थी, बाबर ने कहा कि वह कुछ खिलाड़ियों को चाहते थे लेकिन उन्हें नहीं मिला.

“मुझे दस्ते के चयन के लिए अपना इनपुट दिया गया था. मुझे लगा कि मुझे कुछ सीनियर्स की जरूरत है, लेकिन यह चयनकर्ताओं का निर्णय है.”


Related posts