सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड  ने रविवार को घरेलू क्रिकेट की बहाली के लिए स्टेट क्रिकेट एसोसिएशंस को स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) जारी कर दिया है. इसमें बीसीसीआई ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि, ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को कंसेंट फॉर्म पर साइन करना होगा. इससे उन टीमों को करार झटका लगा है जो अगस्त के तीसरे हफ्ते में ही यूएई जाकर ट्रेनिंग अभ्यास करना चाहती थी. इससे साफ होता है कि बीसीसीआई के इस फैसले से सबसे बड़ा झटका चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस को लगा है.

खिलाड़ियों को सहमति पत्र पर करने होंगे हस्ताक्षर

बीसीसीआई ने कहा ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को सहमति पत्र पर करना होगा साइन 1

बीसीसीआई ने राज्य संघों को कोरोना वायरस के कारण लागू की जाने वाली मानक संचालन प्रक्रिया जारी की है. इससे क्रिकेट गतिविधियों को फिर से शुरू करने में मदद मिलेगी, लेकिन ट्रेनिंग शुरू करने से पहले प्रत्येक खिलाड़ी को सहमति पत्र पर साइन करना होगा. इस सहमति पत्र के पीछे बोर्ड का यही मकसद पर है कि दोबारा ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को इससे जुड़े जोखिम के बारे में पूरी तरह से जानकारी हो.

चेन्नई तथा मुम्बई को बड़ा झटका

आईपीएल 2020

बीसीसीआई ने कहा ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को सहमति पत्र पर करना होगा साइन 2

चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस की टीमें संयुक्त अरब अमीरात के माहौल में ढलने और अभ्यास शुरू करने के लिए अपने खिलाड़ियों को वहां जल्दी भेजना चाहती थी. इन दोनों का इरादा अगस्त के दूसरे सप्ताह में अपनी पूरी टीम को वहां भेजने का था.

लेकिन अब भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने आईपीएल फ्रेंचाइजियों को स्पष्ट कर दिया है कि 20 अगस्त से पहले कोई भी टीम यूएई के लिए रवाना नहीं हो सकती है. क्योंकि उन्हें ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को कंसेंट फॉर्म (सहमति पत्र) पर साइन करना होगा.

सरकार से अनुमति मिलने की उम्मीद

बीसीसीआई को यूएई में आईपीएल आयोजित कराने को लेकर आने वाले हफ्ते में सरकार से पूरी अनुमति मिलने की उम्मीद है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने शनिवार को जानकारी दी थी कि खेल मंत्रालय से बोर्ड को मंजूरी मिल गई है और हमें उम्मीद है कि बाकी मंत्रालयों से भी इसी हफ्ते मंजूरी मिल जाएगी।

आईपीएल में खिलाड़ियों के 4 कोरोना टेस्ट होंगे

बीसीसीआई ने कहा ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों को सहमति पत्र पर करना होगा साइन 3

बीसीसीआई की एसओपी के अनुसार 14 दिन में खिलाड़ियों के 4 कोरोना टेस्ट होंगे. इसके अलावा ड्रेसिंग रूम में प्लेयर्स की संख्या नियंत्रित रखी जाएगी. सिर्फ खिलाड़ियों को ही नहीं, बल्कि उनकी पत्नी, गर्लफ्रेंड और फ्रेंचाइजी ओनर को भी बायो सिक्योर प्रोटोकॉल का पालन करना होगा.

किसी भी सूरत में इसे तोड़ने की इजाजत नहीं होगी. एक बार बायो सिक्योर बबल में आने के बाद कोई भी इससे बाहर जाकर दोबारा फिर टीम में शामिल नहीं हो पाएगा.

Ashutosh Tripathi

Sport Journalist