आरसीबी के पहले मैच की प्लेयिंग XI के खिलाड़ी अब कहाँ है

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन

इसमें कोई संदेह नहीं है कि 2020 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित है. लेकिन इसके बावजूद 11सीजन में वह एक भी बार खिताब नहीं जाती पाई है. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 2016, 2011 और 2009 में फाइनल में पहुंच कर हारी है. इसके साथ ही वह 2010 में चौथे और 2015 में तीसरे स्थान पर रही थी.

आरसीबी ने अभी तक नहीं जीता ख़िताब

आरसीबी टीम के पास भले ही विराट कोहली, एबी डिविलियर्स जैसे सुपरस्टार खिलाड़ी हैं. फिरभी विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी एक भी खिताब ना जीत पाई है. आईपीएल की शुरुआत 2008 में हुयी थी. तब भी आरसीबी के पास कई दिग्गज खिलाड़ी थे. क्या आपको आरसीबी की सबसे पहली प्लेइंग इलेवन के बारे में पता है. शायद बहुत कम लोगों को पता होगा.

आज हम आपको अरसीबी कि पहली प्लेइंग इलेवन के बारे में बताएँगे साथ ही यह भी बताएँगे की आज यह सब खिलाड़ी कहां है और क्या कर रहें है.

                            आरसीबी की 2008 की प्लेइंग इलेवन

राहुल द्रविड़

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 1

भारत के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ आईपीएल के पहले संस्करण में आरसीबी की टीम से बतौर ओपनर बल्लेबाज मैदान में उतारे थे. उस मैच में राहुल मात्र 2 रन बनाकर आउट हो गए थे. राहुल द्रविड़ लम्बे समय तक भारतीय के मुख्य बल्लेबाज थे.

राहुल द्रविड़ ने भारत के लिए अंतररास्ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्यू वर्ष 1996 में श्रीलंका के खिलाफ किया था. राहुल ने अंतररास्ट्रीय क्रिकेट को वर्ष 2012 में अलविदा कह दिया. इस समय राहुल द्रविड़ अंडर 19 भारतीय टीम के मुख्य कोच हैं.

वसीम जाफर

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 2

भारत के पूर्व खिलाड़ी वसीम जाफर भी आईपीएल के पहले संस्करण में आरसीबी की टीम से बतौर ओपनर बल्लेबाज मैदान में उतरे थे. उस मैच में वसीम जाफर मात्र 6 रन बनाकर आउट हो गए थे. वसीम जाफर ने भारत के लिए ज्यादा क्रिकेट नहीं खेला है. वसीम जाफर ने भारत के लिए अंतररास्ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्यू वर्ष 2000 में दक्षिण आफ्रिका के खिलाफ किया था.

वसीम जाफर भले ही 41 साल के होने वाले हों लेकिन उनके खेल पर उम्र का बिलकुल भी असर नहीं पड़ रहा है. जाफर लगातार रणजी ट्रॉफी में रन बना रहे हैं और रिकॉर्ड्स की झड़ी लगा रहे हैं रणजी ट्रॉफी इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले जाफर फ़िलहाल घरेलू क्रिकेट खेल रहें हैं.

विराट कोहली

विराट कोहली
विराट कोहली

2008 में अरसीबी के नंबर तीन बल्लेबाज अब आरसीबी तथा भारतीय टीम के कप्तान चुके हैं. विराट आज भी भारत के लिए नंबर 3 पर बल्लेबाजी करते हैं. विराट अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार रन बना रहे हैं. वह अब तक 70 अंतरराष्ट्रीय शतक बना चुके हैं. विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना डेब्यू 18 अगस्त 2008 में श्रीलंका के खिलाफ किया था.

विराट कोहली आईपीएल इतिहास के ऐसे पहले खिलाड़ी हैं जिन्होंने आईपीएल के लगातार 12 सीजन में आरसीबी के लिए खेले हों.

जैक कैलिस

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 3

दक्षिण आफ्रिका के सबसे सबसे ऑल राउंडर जैक कैलिस उस समय आरसीबी के लिए नंबर 4 पर बल्लेबाजी करते थे. जैक ने उस मैच में 8 रन बनाये थे. जैक कैलिस एक ऐसे क्रिकेटर जो गेंद और बल्ले दोनों के साथ विरोधी पर कहर बनकर टूटते थे.

दोस्त उन्हें प्यार से जैक या जैकी भी बुलाते थे. जैक कैलिस ने अपना अंतररास्ट्रीय डेब्यू 14 दिसंबर 1995 में इंग्लैंड के खिलाफ किया था. उन्होंने अपने 19 वर्ष के लम्बे कैरियर के बाद 2014 में संन्यास ले लिया था.

कैमरून व्हाईट

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 4

ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी कैमरून व्हाईट ने उस मैच में आरसीबी के लिए मात्र 6 रन का योगदान दिया था. कैमरून उस मैच में आरसीबी के लिए नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने उतरे थे. कैमरून ने ऑस्ट्रेलिया के लिए वर्ष 2005 में डेब्यू किया था.

कमरून निरंतर रूप से ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज नहीं रहे उन्हें कुछ अंतराल के बाद ही ऑस्ट्रेलियन टीम में मौका मिलता रहा है. उन्होंने अपना आखिरी अंतररास्ट्रीय मैच जनवरी 2018 में खेला था. कैमरून इस समय घरेलु क्रिकेट खेल रहें हैं.

मार्क बाउचर

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 5

दक्षिण अफ्रिका के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी मार्क बाउचर भी आरसीबी के लिए उस मैच में कुछ ख़ास नहीं कर पाए थे. बाउचर मात्र 7 रन बनाकर मुरली कार्तिक का शिकार हुए थे. बाउचर ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत वर्ष 1997 को की थी. जब भी कोई क्रिकेट प्रशंसक मार्क बाउचर को याद करता है तो उसे 2012 में घटी वो घटना याद आती है.

जुलाई 2012 में समरसेट क्रिकेट क्लब के खिलाफ मैच के दौरान वो दुर्घटना हुई थी. उस वक्त अफ्रीकी स्पिनर इमरान ताहिर गेंदबाजी कर रहे थे. ये बाउचर के लिए आखिरी मैच साबित हुआ. बाउचर ने 147 टेस्ट, 295 वनडे और 25 टी20 इंटरनेशनल खेले. विकेट के पीछे कुल 998 शिकार किए जिनमें टेस्ट में 555 शिकार शामिल हैं और ये एक रिकॉर्ड रहा है. आज तक किसी ने इतने शिकार नहीं किए हैं.

बालचंद्र अखिल

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 6

बालचंद्र अखिल उस मैच में खाता भी नहीं खोल पाए थे. बालचंद्र एक ऑलराउंड क्रिकेटर है. साल 2008 में ही रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और डेक्कन चार्जर्स के बीच मैच खेला गया. जिसमें बालचंद्र अखिल ने बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए 7 गेंदों में नाबाद 27 रन बनाए.  उन्होंने 386 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की थी. बालचंद्र ने अपना आखरी घरेलू मैच वर्ष 2017 में खेला है. इस मैच के बाद उन्हें क्रिकेट ग्राउंड में नही देखा गया है.

एस्ले नौफ्की

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 7

ऑस्ट्रेलिया के इस ऑल राउंडर खिलाड़ी ने उस मैच में आरसीबी के लिए 10 गेंदों में 9 रन बनाये थे. इस बल्लेबाज ने भी सभी बल्लेबाजों कि तरह निराश किया था.

एस्ले ने अपना अंतरराष्ट्रीय डेब्यू भारत के ही खिलाफ 2008 में हुआ था. इस समय यह क्रिकेटर ऑस्ट्रेलिया कि घरेलु बिग बैश में खेलता है.

प्रवीण कुमार

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 8

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने उस मैच में एक भी विकेट नहीं लिया था. प्रवीण ने अपने पहले आईपीएल मैच में 4 ओवर में 38 रन दिए थे. उन्होंने अपने इंटरनेशनल करियर को 2018 में अलविदा कह दिया है.

11 साल पहले (2007 में) प्रवीण ने पाकिस्तान के खिलाफ जयपुर में वनडे मैच खेलकर अपने इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी. इसके बाद उन्होंने अपने इंटरनेशनल करियर में 6 टेस्ट, 68 वनडे और 10 टी20 मैच खेले.

ज़हीर खान

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 9

ज़हीर खान भी प्रवीण कुमार की तरह ही विकेट लेने में नाकाम रहे तथा उन्होंने अपने 4 ओवर में 38 रन दिए थे. ज़हीर के लिए यह मैच बहुत बुरा था. यह तो सभी जहीर खान एक पूर्व उत्कृष्ट भारतीय क्रिकेटर हैं और जहीर खान वर्ष 2000 से वर्ष 2014 तक भारतीय राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में एक महत्वपूर्ण तेज गेंदबाज के रुप में शामिल रहे. वह भारतीय टीम की ओर से तेज गति से गेंदबाजी करने के लिए विख्यात थे.

उन्होंने बड़ौदा के लिए खेलते हुए अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी. जहीर खान कई चीजों जैसे गेंद को विकेट से बाहर निकालने, पुरानी गेंद से गति के साथ स्विंग कराने और रिवर्स स्विंग कराने की क्षमता के लिए जाने जाते हैं. ज़हीर ने अभी हालही में टी10 लीग में 2 गेंदों में दो विकेट लिए थे.

सुनील जोशी

कुछ ऐसी थी आरसीबी के पहले आईपीएल मैच की प्लेइंग इलेवन 10

सुनील जोशी भी बाकि गेंदबाजों कि तरह महंगे साबित हुए थे. उन्होंने अपने कोटे के 4 ओवर भी पूरे नहीं किये थे. उन्होंने अपने 3 ओवेरों में 26 रन खर्च किये थे. अगर हम इस बाएं हाँथ के स्पिनर के क्रिकेट करियर की बात करें तो जोशी कर्नाटक के रहने वाले है. और भारत के लिये उन्होंने 15 टेस्ट में 41 विकेट लिए हैं.

इसके अलावा उन्होंने 69 वनडे में 69 विकेट लिये हैं. उन्होंने भारत के लिये आखिरी वनडे ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 28 मार्च 2001 को खेला. अभी सितम्बर में ही सुनील जोशी को उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ की रणजी टीम का कोच बनाया गया है.

 

 

 

 

Related posts