रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को इस भारतीय गेंदबाज से दी बचने की सलाह 1

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ी से क्रिकेट फ़ैंस को काफ़ी उम्मीदें थी. लेकिन पहली पारी में कंगारू टीम के बल्लेबाज़ों ने निराश किया और महज़ 191 रन के स्कोर पर पूरी टीम ऑलआउट हो गई. जिसके बाद पहली पारी में भारतीय टीम को मैच के दूसरे दिन 53 रन की बढ़त मिली.

भारत को पहला ब्रेक-थ्रू तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ने दिलाया. वेड और बर्न्स के शुरुआती विकेट चटका कर बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 29 रन पर 2 विकेट कर दिया. बुमराह की गेंदबाज़ी में मिली इस शुरुआत के बाद भारतीय टीम के लिए बाकी का काम रविचंद्रन अश्विन ने कर दिया.

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों ने की अश्विन को हल्के में लेने की गलती- रिकी पोंटिंग

रिकी पोटिंग ने की बताई ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ी की गलती

55 रन देकर 4 विकेट लेने वाले अश्विन भारत के लिए दूसरे दिन सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ साबित हुए. अश्विन ने अपने खाते स्टीव स्मिथ का एक बड़ा विकेट जोड़ा. उसके अलावा ट्रेविस हेड, डेब्यू कर रहे कैमरून ग्रीन और नाथन लियोन को अश्विन ने पैविलियन भेजा. ऑस्ट्रेलिया की ज़मीन पर टेस्ट क्रिकेट में अश्विन ने शानदार वापसी की. ऑफ़ स्पिनर की बेहतरीन गेंदबाज़ी के बाद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग ने काफ़ी तारीफ़ की.

चैनल7 से पर कमेंट्री के दौरान अश्विन की गेंदबाज़ी पर बोलते हुए पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज पोंटिंग ने कहा कि,

“अश्विन के खिलाफ़ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ज़रूरत से ज़्यादा आक्रामक नज़र आ रहे थे. कहीं न कहीं मुझे ऐसा लगता है ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों ने अश्विन को हल्के में ले लिया था कि वो इतनी बेहतरीन गेंदबाज़ी कर लेंगे. बल्लेबाज़ ज़्यादातर रन अश्विन के ही खिलाफ़ बना लेना चाहते थे, जो कि उनकी सबसे बड़ी भूल साबित हुई.”

भारतीय गेंदबाज़ी के सामने बिखरी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ी

रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को इस भारतीय गेंदबाज से दी बचने की सलाह 2

अश्विन ने अपनी गेंदबाज़ी के दौरानिए में और अपने पूरे स्पेल में शानदार तरीके से गेंदों डिलीवर किया. स्मिथ को उनकी पारी के एक बड़े हिस्से के दौरान अपनी फ़िरक़ी में बाँधे ही रखा. जिसके बाद अश्विन ने स्लिप में कैच करा कर पूर्व कप्तान को चलता किया.

इसके बाद इस ऑफ़ स्पिनर ने अपनी ही गेंद पर ट्रेविस हेड का कैच पकड़ कर एक आसान सा विकेट भारत की झोली में डाल दिया. गेंद को पुल करने की कोशिश में कैमरून ग्रीन ने भी मिड-विकेट पर खड़े विराट कोहली के हाथों में कैच थमा दिया. जिसके बाद अश्विन के खाते में एक और विकेट जुड़ गया.

काम न आ सका टिम पेन का कप्तानी संघर्ष

रिकी पोंटिंग ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को इस भारतीय गेंदबाज से दी बचने की सलाह 3

टिम पेन की 73 रन की संघर्षपूर्ण और कप्तानी पारी से पहले 7 विकेट पर 117 पर ही अटका हुआ नज़र आ रहा था. कप्तान टिम पेन आखिर तक भी 73 रन पर नाबाद ही पैविलियन लौटे. पेन ने अपनी जिम्मेदारी समझ कर टिक कर बल्लेबाज़ी करते हुए निचले क्रम के साथ महत्वपूर्ण और छोटी-छोटी साझेदारियाँ की.

इसके अलावा भारतीय गेंदबाज़ी की बात करें तो दूसरा दिन लगभग उनके ही नाम रहा. अश्विन के 4 विकेट के अलावा उमेश ने 3 और बुमराह ने 2 विकेट लेते हुए कुल 5 बल्लेबाज़ों को पैविलियन का रास्ता दिखाया.

दिन का आखिर होते होते भारतीय टीम का स्कोर 9 रन पर 1 विकेट हो चुका था. पैट कमिंस ने पृथ्वी शॉ को आउट कर भारत को पहला झटका दिया. उसके बाद बुमराह नाइट-वॉचमैन की भूमिका में आए ताकि दिन का खेल खत्म होने तक टीम को कोई दूसरा बड़ा झटका न लगे.