बायोबबल विवाद पर बोले प्रज्ञान ओझा, हार से चिढ़ जाती है पूरी ऑस्ट्रेलिया 1

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली हर सीरीज़ अपने साथ कोई न कोई विवाद ज़रूर लेकर आती है. चाहे वो सिडनी टेस्ट 2008 का मंकीगेट प्रकरण हो या  फिर एक बार वॉटसन और गंभीर के बीच हुआ विवाद. हर बार किसी न किसी  न किसी विवाद की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ सुर्खियों में ज़रूर बना रहती है.

मौजूदा सीरीज़ में भी  कुछ ऐसा ही हुआ है. 5 भारतीय खिलाड़ियों को बायोबबल उल्लंघन के तथाकथित आरोपों के चलते आईसोलेशन में रखे जाने के बाद दुनिया भर क्रिकेट एक्सपर्ट्स  और पूर्व क्रिकेटर अपनी-अपनी राय दे रहे हैं. इसी सिलसिले में अब ताज़ा नाम पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा का भी नाम जुड़ गया है.

5 भारतीय खिलाड़ियों पर बायोबबल  उल्लंघन का आरोप

विवाद

रोहित शर्मा समेत 5 भारतीय खिलाड़ियों की रेस्टोरेंट में खाना खाने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद इन सभी को आईसोलशन में रहने के लिए कहा गया था. इन खिलाड़ियों की जो तस्वीरें वायरस हुई वो मेलबर्न के एक रेस्टोरेंट में एक भारतीय क्रिकेट  फ़ैन द्वारा खींची गई थी. जैसे जैसे इस विवाद ने तूल पकड़ा वैसे ही ऑस्ट्रेलियाई  मीडिया ने बायोबबल उल्लंगघन मामले में विराट कोहली और हार्दिक पांड्या को  भी घसीटने की कोशिश की.

ऑस्ट्रेलियाई मीडिया का दावा था कि इन दोनों खिलाड़ियों ने भी कोविड प्रोटोकॉल्स का उल्लंघन किया था और ये बिना मास्क के एक दुकान में शॉपिंग करने गए थे. बीसीसीआई ने इस इस मसले पर अपने रुख पर कायम रहते हुए कहा कि भारतीय खिलाड़ियों ने किसी भी प्रोटोकॉल का कोई उल्लंघन नहीं किया है.

पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया पर साधा निशाना

विवाद

इस पूरे मसले पर पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर कड़ा निशाना साधा है. पूर्व भारतीय स्पिनर का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई मीडिया इस ज़रा से मामले को बिना वजह का तूल देकर अगले मैच से भारतीय टीम का ध्यान भटकाना चाहती है.

ओझा ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के अंदर शुरु से ही हार को स्वीकार करने की तहज़ीब नहीं है. ऑस्ट्रेलियाई कैंप को ये उम्मीद ही नहीं थी कि भारतीय टीम पहले मैच में 8 विकेट की हार के बाद मेलबर्न टेस्ट में  इतनी शानदार वापसी करेगी. यही कारण है कि वो इतने विचलित नज़र आ रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया के अंदर नहीं है हार स्वीकार करने की तहज़ीब – प्रज्ञान ओझा

विवाद

इस पूरे मसले  पर स्पोर्ट्स टुडे से बातचीत के दौरान प्रज्ञान ओझा ने अपनी राय रखते हुए कहा कि,

“देखिए ये पूरी दुनिया जानती है कि ऑस्ट्रेलिया के  अंदर हार को झेलने की कोई तहज़ीब नहीं है. उनको ये बात हजम ही नहीं हो रही कि हमने अपने 5 मुख्य खिलाड़ियों के बगैर उन्हें मेलबर्न में 8 विकेट से हरा दिया.

उनको लगा कि वो आसानी से जीत जाएंगे, लेकिन जो हुआ वो उनके लिए चौंकाने वाला था. उनको शायद ये जानकारी नहीं है कि हम उनकी मंशा भली भाँति जानते हैं. भारतीय टीम इस समय मानसिक तौर पर रिलैक्सड है और आगे ते 2 टेस्ट पर फ़ोकस कर रही है.”