द्रविड़ को पछाड़ सचिन-सहवाग के बराबर आ खड़े हुए अश्विन

vinay mani tripathi / 29 December 2015

साल 2015 टीम इंडिया के लिए मिला जुला रहा लेकिन इस साल जिस एकमात्र भारतीय ने टीम इंडिया को ऊंचा मकाम दिखाया और साल का सर्वाधिक विकेट लेने वाला गेंदबाज़ रहा वो कोई और नहीं बल्कि आर अश्विन रहे. अपने परिवार की बिना खैर-खबर के मैदान पर देश के लिए खेलते रहने वाले आर अश्विन ने भारत और द.अफ्रीका क्रिकेट सीरीज़ में 31 विकेट झटके और 111 रन बनाए जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द सीरीज़ पुरस्कार से भी नवाज़ा गया था.

 

लेकिन इसके साथ ही बड़ी बात ये रही कि इस मैन ऑफ द सीरीज़ अवार्ड के साथ ही अश्विन ने भारत के सबसे बड़े दिग्गज सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग की बराबरी करते हुए राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया.

 

अश्विन ने सचिन तेंदुलकर और वीरेंद्र सहवाग के टेस्ट करियर के मैन ऑफ द सीरीज़ पुरस्कारों की बराबरी की. वहीं इसके साथ इस साल रिकॉर्ड के साथ ही अश्विन ने द्रविड़, हरभजन, कपिल देव और कुंबले के 4 मैन ऑफ द सीरीज़ के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा.

 

 

अश्विन अब भारत के लिए संयुक्त रूप से सबसे ज्यादा बार मैन ऑफ द सीरीज़ जीतने वाले खिलाड़ी बन गए हैं. अगले साल टेस्ट भारत को वेस्टइंडीज़ समेत कई टेस्ट  सीरीज़ खेलनी है जिसमें अगर अश्विन एक बार भी मैन ऑफ द सीरीज़ पुरस्कार जीत जाते हैं तो वो भारत के लिए सबसे अधिक मैन ऑफ द सीरीज़ जीतने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे.

 

अश्विन ने 32 मैचों में 5 बार मैन ऑफ द सीरीज़ पुरस्कार जीता है. जबकि सचिन ने 200 मैचों में 5 सीरीज़ में ये उपलब्धि हासिल की है. वहीं सहवाग ने 103 मैचों के अंदर 5 बार मैन ऑफ द सीरीज़ का पुरस्कार जीता है.

 

इस हिसाब से अश्विन, सचिन और सहवाग के बराबर आ खड़े हुए हैं और इन दोनों के इस रिकॉर्ड को पार करने से एक कदम दूर हैं.

Related Topics