हार्दिक पांड्या के नए परमानेंट कप्तान बनने पर Rahul Dravid ने पहली बार तोड़ी चुप्पी

Rahul Dravid: टी20 विश्वकप 2022 की हार के बाद से ही भारतीय क्रिकेट टीम में बदलाव के लिए बोर्ड ने बड़े कदम उठाना शुरू कर दिया है. आगमी वर्ल्ड कप और टी20 फॉर्मेट में सीनियर खिलाड़ियों को आराम देकर युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा है. अब तक न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में युवा खिलाड़ियों से सजी टीम की कमान हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) संभालते हुए नजर आए थे, जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि हार्दिक को ही टी20 टीम का नियमित कप्तान बना दिया जाएगा, हालांकि इस बीच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने इस मामले पर एक बड़ा बयान देकर सनसनी मचा दी है.

Rahul Dravid ने कप्तानी को लेकर दिया बड़ा बयान

Rahul Dravid

इस साल 2023 में भारत वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला है, जिसकी वजह से भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी 50 ओवर के खेल में अधिक ध्यान देने के चक्कर में टी20 मुकाबले से थोडा दूरी बना रहे है. टी20 विश्वकप के बाद भारत ने न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ टी20 मुकाबले खेले हैं, जिसमें रोहित शर्मा और विराट कोहली को मौका नहीं दिया गया था.

हाल ही में हार्दिक पंड्या को 20 ओवर के खेल में कप्तानी करते हुए देखा गया, जिसके बाद कयास लगाए जाने लगे हैं कि उन्हें साल 2024 के टी20 विश्वकप तक कप्तानी सौंप दी जाएगी. लेकिन हेडकोच राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने एक हालिया प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक चौंकाने वाला बयान दिया है. राहुल ने कहा,

“मुझे टीम इंडिया में स्प्लिट कप्तानी के बारे में कुछ नहीं पता “

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के इस बयान से अंदाजा लगाया जा सकता है कि हार्दिक को फिलहाल कप्तानी सौंपने के बारे में कुछ भी विचार नहीं किया गया है. क्योंकि बतौर हेडकोच उन्हें इस मामले में जानकारी होना लाजमी था.

Hardik Pandya का कप्तानी रिकॉर्ड है शानदार

हार्दिक पांड्या के नए परमानेंट कप्तान बनने पर राहुल द्रविड़ ने पहली बार तोड़ी चुप्पी, कोच ने कही ये बात 1

आईपीएल 2022 का विजेता बनने के बाद हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) को बतौर कप्तान देखा जा रहा है. उन्होंने अपनी कप्तानी में गुजरात टाइटन्स को पहले ही सीज़न में खिताब जितवा दिया था. जिसके जीतने की किसी ने भी उम्मीद नहीं की थी, वहीं इसके बाद उन्हें जब टीम इंडिया का कप्तान बनाया गया तो भी उन्होंने अपना 100 प्रतिशत दिया है. उन्होंने अबतक 8 मुकाबलों में भारत की कमान संभाली है, जिसमें से 7 में से जीत हासिल की है. जाहिर तौर उनका कप्तानी रिकॉर्ड शानदार है, जो उन्होंने यह जिम्मेदारी संभालने के प्रबल दावेदार बनाता है.