महेंद्र सिंह धोनी या विराट कोहली नहीं बल्कि इन्हें अपना आदर्श मानते है तमिलनाडु के कप्तान 1

देवधर ट्रॉफी में तमिलनाडु को जीत दिलाने वाले कप्तान विजय शंकर पूर्व भारतीय खिलाड़ी राहुल द्रविड़ को अपना आदर्श को मानते हैं। विजय ने बताया है, कि किस तरह राहुल द्रविड़ को देखकर वो आगे बढ़े हैं। विजय को 2014- 15 में इंडिया ए की तरफ से आस्ट्रेलिया दौरे पर जाने का मौका मिला था। उस दौरान विजय अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन घुटनें में चोट लगने के बाद उन्हें लौटना पड़ा था।  आईपीएल-9 : अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने पर ब्रैड हॉग को मैच रैफरी की फटकार

हालांकि उस प्रदर्शन की बदौलत उन्हें न्युजीलैंड के खिलाफ भारत की 15 सदस्यों वाली टीम में आने का मौका मिला था। तमिलनाडु पर जीत के बाद विजय ने कहा, ”मुझे आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलने का मौका मिला। यह मेरे जीवन की बहुत बड़ी उपलब्धी है। हालांकि चोटिल होने की वजह से मैं ज्यादा नहीं खेल पाया था। अगर मैं चोट लगने के बावजूद खेलता तो मेरे खेल पर बुरा असर पड़ता और हो सकता है, कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर पाता।”

महेंद्र सिंह धोनी या विराट कोहली नहीं बल्कि इन्हें अपना आदर्श मानते है तमिलनाडु के कप्तान 2

उन्होंने इंडिया ए टीम के कोच राहुल द्रविड़ का जिक्र करते हुए कहा, ”मैंने चोट के दौरान राहुल सर से चर्चा की थी। तब उन्होंने कहा था, कि आप घुटने की सर्जरी करवा लीजिये। यह आपके लिए  ठीक रहेगा।”

राहुल द्रविड़ की एडिलेड में खेली गई पारी के बारे में कहा, ”राहुल द्रविड़ मेरे आदर्श हैं। उन्होंने एडिलेड की दो पारियों में 233 और नाबाद 72 रन बनाए थे। इन दोनों पारियों का मेरे करियर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। जब उनसे पहली बार मिला था, तब मेरे पास बात करने के लिए शब्द नहीं थे।”  ट्विटर प्रतिक्रिया : धर्मशाला में चमके हार्दिक और मिश्रा, भारत के सामने 191 की चुनौती

विजय शंकर ने अंत में कहा, कि उन्होंने मेरी बल्लेबाजी की सराहना की है। जिससे मेरा आत्मविश्वास काफी बढ़ गया है। उस दौरान राहुल सर ने कहा था, कि तुम भारतीय टीम का हिस्सा बन सकते हो, बशर्ते अपनी गेंदबाजी अच्छी कर लो।