रेलवे ने बड़ा उलटफेर करते हुए मुंबई को हराया

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

41 बार विजेता रही मुंबई ने रेलवे के सामने 3 दिन में टेके घुटने, रहाणे और शॉ हुए फ्लॉप 

41 बार विजेता रही मुंबई ने रेलवे के सामने 3 दिन में टेके घुटने, रहाणे और शॉ हुए फ्लॉप

इनदिनों देश में रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट खेला जा रहा है. इस प्रतियोगिता के तीसरे राउंड का एक मैच रेलवे और मुंबई के बीच गया. इस मुकाबले से पहले सभी को उम्मीद थी कि इस मैच को मुंबई की टीम आसानी से अपने नाम करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है. रेलवे की टीम ने एक बड़ा उलटफेर करते हुए मुंबई की टीम को 10 विकेट से हरा दिया है.

मुंबई पहली पारी में मात्र 114 रन पर ढेर

पृथ्वी शॉ

इस मैच का टॉस रेलवे की टीम ने जीता और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई की टीम मात्र 114 रन के स्कोर पर ही आउट हो गई थी.

पृथ्वी शॉ जहां मुंबई के लिए मात्र 12 रन बना पाए थे. वहीं अजिंक्य रहाणे मात्र 5 रन के स्कोर पर आउट हो गए थे. टीम के लिए कप्तान सूर्यकुमार यादव ने सबसे ज्यादा 39 रन की पारी खेली. प्रदीप टी ने रेलवे के लिए शानदार गेंदबाजी करते हुए पहली पारी में कुल 6 विकेट हासिल किये थे.

रेलवे ने बनाए 266 रन

41 बार विजेता रही मुंबई ने रेलवे के सामने 3 दिन में टेके घुटने, रहाणे और शॉ हुए फ्लॉप 1

मुंबई की पहली पारी के जवाब में रेलवे की टीम ने अपनी पहली पारी में 266 रन बनाए. रेलवे के लिए 112 रन का शानदार नाबाद शतक कर्ण शर्मा ने लगाया. वहीं टीम के लिए 72 रन की पारी अरिंदिम घोष ने खेली थी. मुंबई के लिए पहली पारी में तुषार देशपांडे ने 4 विकेट हासिल किये थे. रेलवे की टीम ने पहली पारी के आधार पर 152 रन की एक अच्छी बढ़त हासिल की थी.

दूसरी पारी में भी मात्र 198 रन पर सिमटी मुंबई

41 बार विजेता रही मुंबई ने रेलवे के सामने 3 दिन में टेके घुटने, रहाणे और शॉ हुए फ्लॉप 2

शानदार बल्लेबाजों से सजी मुंबई की टीम से दूसरी पारी में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी, लेकिन दूसरी पारी में भी मुंबई के बल्लेबाज फ्लॉप साबित हुए और पूरी टीम मात्र 198 रन पर सिमट गई.

दूसरी पारी में भी टीम के लिए सबसे ज्यादा 65 रन कप्तान सूर्यकुमार यादव ने बनाए थे. वहीं पृथ्वी शॉ 23 रन और अजिंक्य रहाणे 8 रन दूसरी पारी में भी कुछ ख़ास नहीं कर पाए हैं. रेलवे के लिए दूसरी पारी में हिमांशु सांगवान ने 5 विकेट हासिल किये.

रेलवे की टीम को जीत के लिए मात्र 47 रन का लक्ष्य मिला था, जिसे रेलवे ने बिना विकेट खोए हासिल कर लिया और मैच को 10 विकेट के बड़े अंतर से अपने नाम कर लिया था.

रेलवे के लिए दूसरी पारी में मृणाल देवधर ने 27 नाबाद रनों की पारी खेली. वहीं प्रथम सिंह ने भी नाबाद 19 रनों का योगदान दिया था.

 

Related posts