जोंटी रोड्स

मौजूदा भारतीय क्रिकेट टीम में जब भी बेहतरीन फील्डर की बात होती है तो हर किसी का जहन में रविंद्र जडेजा का नाम आता है. मगर हम भारत की टीम के और दूसरे खिलाड़ियों की शानदार फील्डिंग को नजरअंदाज नहीं कर सकते. अब साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर जोंटी रोड्स जिन्हें उनकी फील्डिंग के लिए आज भी याद किया जाता है. उन्होंने जडेजा नहीं बल्कि सुरेश रैना की फील्डिंग की जमकर तारीफ करते हुए उन्हें अपनी तरह बताया.

सुरेश रैना दिलाते हैं रोड्स को उनकी याद

जोंटी रोड्स

टीम इंडिया के मध्य क्रम के बल्लेबाज सुरेश रैना लंबे वक्त से टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं. रैना ने भारत के लिए आखिरी मुकाबला 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. इसके बाद से उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला है. मगर साउथ अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर जोंटी रोड्स को उनकी फील्डिंग अभी भी याद हैं. रैना की फील्डिंग की तारीफ करते हुए जोंटी रोड्स ने कहा है कि वह उन्हें उनकी याद दिलाते हैं. सुरेश रैना के साथ इंस्टाग्राम लाइव चैट सेशन में बात करते हुए जोंटी रोड्स ने कहा,

”मैं एक फील्डर के रूप में हमेशा आपका बहुत बड़ा प्रशंसक रहा हूं, क्योंकि आप मुझे मेरी याद दिलाते हैं. काश मैं भी आप जैसा जवान होता.”

रविंद्र जडेजा, मोहम्मद कैफ और युवराज सिंह में नहीं बल्कि इस भारतीय खिलाड़ी में जोंटी रोड्स को दिखती है अपनी झलक 1

”मुझे पता है कि भारत में ऐसा क्या है. मुझे पता है कि यहां फील्ड कितनी मुश्किल हैं. इसलिए यदि आप हर समय चारों तरफ डाइव लगा रहे हैं, तो आप पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं.”

रविंद्र जडेजा भी नहीं हैं बुरे

जोंटी रोड्स
फोटो सूत्र: गेटी इमेज

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा मौजूदा वक्त में भारतीय टीम के सर्वश्रेष्ठ फील्डर्स में से एक हैं. जडेजा ना केवल अपनी गेंदबाजी-बल्लेबाजी के साथ टीम इंडिया की जीत में भूमिका निभाते हैं. बल्कि वह अपनी फील्डिंग से भी मैच का रुख पलटने का दम रखते हैं. आगे जोंटी रोड्स ने जडेजा की तारीफ करते हुए कहा,

”फिर, जड्डू, वह बुरा नहीं है. मैं कहता हूं कि लोगों को ऊपर की तरफ से थ्रो फेंकना चाहिए, लेकिन वह हमेशा साइड-आर्म फेंक रहा है, फिर भी वह मिस नहीं करते है. वह आपसे और मुझसे बहुत अलग हैं. वह कुछ-कुछ माइकल बेवन की तरह हैं.”

”वह मैदान पर बहुत तेज है. आपने उन्हें डाइव या स्लाइड करते नहीं देखेंगे, क्योंकि उन्हें इतनी अच्छी गति मिली है कि वह गेंद तक पहुंच जाएंगे. आप और मैं हमेशा चकमा देंगे, हम गंदे होने वाले फील्डर्स हैं. हम मैदान में गिरेंगे, गंदे होंगे और फिर से जल्दी से उठेंगे.”