शॉल बेचने वाला कैसे बना आईपीएल फ्रेंचाइजी का मालिक, जानिए कैसे बस कंडक्टर का बेटा बना 2800 करोड़ का मालिक 1

बॉलीवुड के अदाकारा शिल्पा शेट्टी अब मूवी में भले ही नहीं दिखती मगर अपने फिटनेस और योग के लिए भी जानी जाती हैं. उनके पति राज कुंद्रा एक ब. बिजनेसमैन के तौर पर जाने जाते हैं. लेकिन हाल की हुई घटनाओं से अब वो लगातार सुर्खियाँ में बने हुए हैं. पता हो राज कुंद्रा अभी 23 तारीख तक पूछताछ के लिए पुलिस के हिरासत में लिए गए हैं. उनको पोर्नग्राफी रैकेट से जुड़े होने के आरोप लगे हैं. बताया जा रहा हैं वो राज कुंद्रा हाई प्रोफाइल पॉर्न रैकेट चला रहे थे जिसके माध्यम से पोर्नोग्राफिक कंटेंट बनाकर इसे मोबाइल ऐप और साइट्स के जरिए अपलोड करते थे.

शॉल बेचने वाला कैसे बना आईपीएल फ्रेंचाइजी का मालिक, जानिए कैसे बस कंडक्टर का बेटा बना 2800 करोड़ का मालिक 2

18 साल की उम्र में पिता के अल्टीमेटम के बाद राज कुंद्रा ने 2000 यूरो लेकर दुबई चले गए. वहां वे हीरों के व्यापारियों से मिले. लेकिन डील नहीं बैठी. इसी बीच किसी काम से राज को नेपाल जाना पड़ा. वहां घूमते हुए राज को पश्मीना शॉल नज़र आए. वहां ये शॉल बहुत कम कीमत में बिक रहीं थीं. लेकिन राज को पता था कि इन शॉलों की कीमत इससे बहुत ज्यादा है. राज ने तकरीबन 100 से ऊपर शॉल खरीद लिए और लंदन वापस आ गए. और अब इंग्लैंड के बड़े-बड़े क्लोथिंग ब्रांड्स के दरवाज़े खटखटाने लगे. इन ब्रांड्स को पश्मीना शॉल बहुत पसंद आया और देखते ही देखते पश्मीना शॉल इंग्लैंड में फैशन ट्रेंड बन गया.

शॉल बेचने वाला कैसे बना आईपीएल फ्रेंचाइजी का मालिक, जानिए कैसे बस कंडक्टर का बेटा बना 2800 करोड़ का मालिक 3

कुंद्रा का टर्नओवर उस साल 20 मिलियन यूरो छू गया. वो भी सिर्फ शॉल बेच कर, लेकिन किसी बढ़िया चीज़ को चलता देख उसकी डुप्लीकेट कॉपी को मार्केट में आते देर नहीं लगती. लिहाज़ा नकली माल और नक्कालों की वजह से नाम खराब होने लगा और बिज़नेस डूब गया. इसके बाद कुंद्रा ने शॉल का व्यापार छोड़ दिया और वापस दुबई जाकर हीरे का काम ही करने लगे.

ऐसे मारी आईपीएल में एंट्री

शॉल बेचने वाला कैसे बना आईपीएल फ्रेंचाइजी का मालिक, जानिए कैसे बस कंडक्टर का बेटा बना 2800 करोड़ का मालिक 4

साल 2009 में राज कुंद्रा मॉरिशस की एक कंपनी की मदद से राजस्‍थान रॉयल्‍स के मालिक बने थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने 75 करोड़ रुपये में राजस्‍थान रॉयल्‍स के 11.7 प्रतिशत स्टेक ख़रीदे थे. राज के आईपीएल से जुड़ने के बाद वो काफी विवादों में रहने लगे. और आईपीएल का सफ़र ज्याद दिनों तक नहीं चल सका.

सट्टेबाजी के आरोप में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया और पूछताछ के दौरान स्वीकार किया था कि उन्होंने अपनी टीम पर दांव लगाया और सट्टे में काफी पैसा गंवाया. फिक्सिंग कांड के बाद राज कुंद्रा को IPL से आजीवन बैन कर दिया गया.

One reply on “शॉल बेचने वाला कैसे बना आईपीएल फ्रेंचाइजी का मालिक, जानिए कैसे बस कंडक्टर का बेटा बना 2800 करोड़ का मालिक”

  1. Pingback: gay dating bahrain

Comments are closed.